7th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारी आज जरूर कर लें ये काम, हर महीने होगा 4500 रुपये का फायदा

Seven Pay Commission | 7th pay commission da | 7th pay commission for pensioners | 7th pay commission in hindi | सेवन पे कमीशन

7th Pay Commission: केंद्र कर्मचारियों के लिए जरूरी खबर है। 7वें वेतन आयोग की सिफारिशों के मुताबिक हर महीने 2250 रुपये का सीईए (CEA Claim) मिलता है। दरअसल केंद्र सरकार अपने कर्मचारियों को दो बच्चों की पढ़ाई के लिए चिल्ड्रेन एजुकेशन अलाउंस देती है। यह दो बच्चों के लिए अधिकतम 4500 रुपये तक हो सकता है। नए वित्त वर्ष से अमल में आने वाले (Seven Pay Commission) नियम के हिसाब से इस जगह के ए, बी और सी कैटेगरी के कर्मचारियों का वेतन केंद्र सरकार के समकक्ष कर्मचारियों के बराबर रहेगा।

Seven Pay Commission
Seven Pay Commission

पहले ये थे नियम

पहले कर्मचारियों को बच्चों के शिक्षा भत्ते (Seven Pay Commission) का दावा करने के लिए स्कूल प्रमाण पत्र और सहायक दस्तावेज जमा करने होते थे। इसके अलावा कई अन्य दस्तावेज हैं जैसे कि बच्चे का रिपोर्ट कार्ड, स्व-सत्यापित प्रति और फीस की रसीद जिन्हें CEA के लिए दावा करने के साथ लगाना होता था। अब CEA के दावे संबंधित कर्मचारियों से स्व-प्रमाणन (Self Certified) और निर्धारित तरीकों के अलावा परिणाम/रिपोर्ट कार्ड/शुल्क भुगतान के ई-मेल/SMS के प्रिंटआउट के माध्यम से किए जा सकते हैं।

इतना मिलता है एजुकेशन अलाउंस (Seven Pay Commission)

केंद्र सरकार के कर्मचारियों को 2 बच्चों की एजुकेशन पर अलाउंस मिलता है और ये अलाउंस प्रति बच्चा 2,250 रुपये है। यानी दो बच्चों पर कर्मचारियों को हर महीने 4,500 रुपये सैलरी में मिलेंगे। अगर कर्मचारियों नें अभी तक अकाडमिक सेशन मार्च 2020 से मार्च 2021 2021 के लिए क्लेम नहीं किया है, तो वह अब कर सकते हैं। तो उन्हें हर महीने 4,500 रुपये वेतन में मिलेंगे।

बीते साल बदले थे Seven Pay Commission नियम

बीते साल ही कोविड-19 के कारण केंद्र सरकार ने चिल्ड्रेन एजुकेशन अलॉउंस (CEA) क्लेम को सेल्फ सर्टिफाइड कर दिया था। सरकार के इस फैसले से 50 लाख केंद्र सरकार के कर्मचारियों को राहत मिली थी। इस बारे में डिपार्टमेंट ऑफ पर्सनल और ट्रेनिंग (DoPT) ने ऑफिस मेमोरेंडम जारी किया था।

उत्तराखंड में इन लोगों की पेंशन में हुआ इजाफा

आपको बता दें की इस सेवन पे कमीशन के तहत (Seven Pay Commission) उत्तराखंड सरकार ने वृद्धावस्था पेंशन, विधवा पेंशन और दिव्यांगों को मिलने वाली 1,200 रुपये प्रति माह की पेंशन राशि को बढ़ाकर 1,400 रुपये कर दिया है। राज्य सरकार की ओर से 29 मार्च को जारी आदेश के मुताबिक वृद्धावस्था पेंशन अब पति-पत्नी दोनों को मिलेगी। प्रदेश भाजपा के मीडिया प्रभारी मनवीर चौहान बोले, ‘‘मंत्रिमंडल की पहली ही बैठक में समान नागरिक संहिता का मसौदा तैयार करने के लिए एक उच्चाधिकार प्राप्त समिति गठित करने का निर्णय कर धामी सरकार ने पहले दिन से ही अपने चुनाव पूर्व वादों को पूरा करना शुरू कर दिया है।

राजस्थान में कर्मचारियों का DA तीन फीसदी बढ़ा

इस लेख में हम आपको बताएँगे की इस बीच, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने केंद्र सरकार के कर्मचारियों की तरह अपने राज्य के कर्मचारियों (Seven Pay Commission) के महंगाई भत्ते और पेंशनभोगियों को देय महंगाई राहत की दर में तीन प्रतिशत बढ़ोतरी को बुधवार को मंजूरी दे दी। एक सरकारी प्रवक्ता के अनुसार, अब राज्य कर्मचारियों एवं पेंशन भोगियों को एक जनवरी 2022 से 34 प्रतिशत महंगाई भत्ता एवं महंगाई राहत दर देय होगी। पहले राज्य कर्मचारियों एवं पेंशन भोगियों को 31 प्रतिशत महंगाई भत्ता एवं महंगाई राहत दर दी जा रही थी।

केंद्रीय कर्मचारियों का डीए में भी वृद्धि, एक जनवरी से प्रभावी

यहाँ पढ़ें की इससे पहले (Seven Pay Commission) केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बढ़ती महंगाई से क्षतिपूर्ति को लेकर बुधवार को महंगाई भत्ते (डीए) और महंगाई राहत (डीआर) तीन प्रतिशत बढ़ाकर 34 प्रतिशत कर दी। इससे केंद्र सरकार के 1.16 करोड़ कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को लाभ होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की बैठक के बाद जारी आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, अतिरिक्त किस्त एक जनवरी, 2022 से प्रभावी होगी।

न्यूनतम वेतन में 8,000 रुपये की वृद्धि होगी Seven Pay Commission के तहत

फिटमेंट फैक्टर बढ़ने से न्यूनतम वेतन भी बढ़ेगा। वर्तमान में कर्मचारियों को 2.57 प्रतिशत के आधार पर फिटमेंट फैक्टर के तहत वेतन मिल रहा है, जिसे 3.68 प्रतिशत करने पर कर्मचारियों के न्यूनतम वेतन में 8,000 रुपये की वृद्धि होगी। इसका मतलब है कि केंद्र सरकार के कर्मचारियों का न्यूनतम वेतन 18,000 रुपये से बढ़ाकर 26,000 रुपये किया जाएगा।

इतनी बढ़ जाएगी सैलरी

आपको बता दें की (Seven Pay Commission) अगर फिटमेंट फैक्टर को बढ़ाकर 3.68 कर दिया जाता है, तो कर्मचारियों का मूल वेतन 26,000 रुपये होगा। अभी अगर आपका न्यूनतम वेतन 18,000 रुपये है, तो भत्तों को छोड़कर, आपको 2.57 फिटमेंट फैक्टर के अनुसार 46,260 रुपये (18,000 X 2.57 = 46,260) मिलेंगे। अब अगर फिटमेंट फैक्टर 3.68 है तो आपकी सैलरी 95,680 रुपये (26000X3.68 = 95,680) होगी।

Leave a Comment