Ayushman Bharat Scheme: जानें कितनी फायदेमंद साबित होगी मोदी सरकार की यह योजना

Ayushman Bharat Scheme: साल 2019 में मोदी सरकार ने आम लोगों के मुफ्त इलाज के लिए आयुष्मान भारत योजना (ayushman bharat scheme) की शुरुआत की थी। इस योजना से अभी तक देश के 10 करोड़ परिवार और 50 करोड़ लोग सीधे रूप से जुड़े हुए हैं। इस योजना के तहत सरकार 5 लाख रुपए का स्वास्थ्य कवर (health benefit) मिलता है। इस योजना को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (PMJAY) भी कहा जाता है। आयुष्मान भारत योजना (ayushman bharat scheme) के तहत मिलने वाले स्वास्थ्य कार्ड (health card) से कोई भी व्यक्ति योजना का लाभ ले सकता है।

– आयुष्मान भारत योजना (ayushman bharat scheme) के जरिए हर परिवार को 5 लाख रुपए तक के स्वास्थ्य बीमा की सुविधा मिलती है।
– इस योजना के तहत पुरानी बीमारियां भी कवर की जाती हैं।  
– इस योजना के जरिए अस्पताल में भर्ती होने से पहले और बाद के सभी खर्चों को कवर किया जाता है।
– इसके साथ ही इलाज के दौरान ट्रांसपोर्ट के जरिए होने वाला खर्च भी शामिल है।
– इस योजना में किसी भी व्यक्ति के मेडिकल जांच, ऑपरेशन, इलाज आदि कवर होते हैं।

आयुष्मान भारत के लिए कौन पात्र है? (Eligibility for Ayushman Bharat Scheme)

ग्रामीण परिवार जिन्हें शामिल किया गया है (बहिष्कृत नहीं) तब उनकी सात वंचन मानदंड (seven deprivation criteria) (डी1 से डी7) की स्थिति के आधार पर रैंक किया जाता है। शहरी परिवारों को व्यवसाय श्रेणियों (occupation category) के आधार पर वर्गीकृत किया जाता है।

आयुष्मान योजना के अंतर्गत लाभार्थी

पेंटर, वेल्डर, कंस्ट्रक्शन साईट पर काम करने वाले मजदूर, राजमिस्त्री, प्लंबर, कुली, सिक्योरिटी गार्ड, रेहड़ी-पटरी दुकानदार, सड़क पर काम करने वाले, मोची, फेरी वाले, हेंडीक्राफ्ट का काम करने वाले, टेलर, स्वीपर, सफाई कर्मी, घरेलू काम करने वाले, ड्राइवर, दुकान पर काम करने वाले, रिक्शा चालक ,निराशाजनक, भिक्षा पर रहने वाले, मैला ढोने वाले परिवार, आदिम आदिवासी समूह, कानूनी रूप से जारी बंधुआ मजदूर इत्यादि प्रधान मंत्री जन आरोग्य योजना (PMJAY) का लाभ उठा सकते हैं।

आयुष्मान योजना (Ayushman Yojana) के अंतर्गत अस्पताल में भर्ती होने की प्रक्रिया क्या है?

लाभार्थियों को अस्पताल में भर्ती होने के खर्च के लिए कोई शुल्क और प्रीमियम का भुगतान करने की आवश्यकता नहीं होगी। लाभ में अस्पताल में भर्ती होने से पहले और बाद के खर्च भी शामिल हैं।

पैनल में शामिल प्रत्येक अस्पताल में मरीजों की सहायता के लिए एक ‘आयुष्मान मित्र’ होगा और लाभार्थियों और अस्पताल के साथ समन्वय स्थापित करेगा। वे एक हेल्प डेस्क (help desk) चलाएंगे, पात्रता को सत्यापित करने के लिए दस्तावेजों की जांच करेंगे और योजना में नामांकन करेंगे।

साथ ही, सभी लाभार्थियों को क्यूआर कोड वाले पत्र दिए जाएंगे जिन्हें स्कैन किया जाएगा और पहचान के लिए जनसांख्यिकीय प्रमाणीकरण किया जाएगा और योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए उनकी पात्रता को सत्यापित करने के लिए किया जाएगा।

आयुष्मान भारत योजना के लाभ पूरे देश में पोर्टेबल हैं और इस योजना के तहत कवर किए गए लाभार्थी को देश भर में किसी भी सार्वजनिक / निजी अस्पताल से कैशलेस लाभ लेने की अनुमति होगी।

किन दस्तावेजों की होगी जरूरत (Documents for Ayushman Yojana)

आयुष्मान योजना (ayushman yojana) के लिए जरुरी दस्तावेज़ :

  • आधार कार्ड (aadhaar card)
  • राशन कार्ड (ration card)
  • मोबाइल नंबर (mobile number)
  • एड्रेस प्रूफ (address proof)

आयुष्मान योजना (Ayushman Yojana) के लिए कैसे कर सकते हैं अप्लाई?

  • आपको सबसे पहले प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना (PM ayushman yojana) के तहत आवेदन करने के लिए जन सेवा केंद्र (CSC) में जाना है।
  • यहां आपको एप्लीकेशन फॉर्म के साथ में अपने सभी डॉक्युमेंट्स को जमा करना है।
  • इसके बाद में जनसेवा केंद्र (CSC) के एजेंट के द्वारा आपके सभी डॉक्युमेंट्स का वेरिफिकेशन किया जाएगा।
  • इसके बाद में आपका रजिस्ट्रेशन हो जाएगा।
  • इसके बाद में 10 से 15 दिन के बाद आपको जन सेवा केंद्र के द्वारा आयुष्मान भारत (ayushman bharat) का गोल्डन कार्ड मिल जाएगा।
  • इसके बाद आपका रजिस्ट्रेशन पूरी तरह से हो जाएगा।

1350 बीमारियों को किया जाता है कवर

आपको बता दें इस सरकारी योजना (जन आरोग्य योजना) के तहत लगभग 1350 बीमारियों को शामिल किया गया है।

आयुष्मान योजना (ayushman yojana) का लाभ उठाने के लिए आवेदक को किसी भी प्रकार से पैसे देने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इस सरकारी योजना का संचालन स्वास्थ्य मंत्रालय के द्वारा किया जाता है।

इस योजना के तहत सरकार मध्यम से गरीब परिवारों को फ्री इलाज की सुविधा देती है।

What is included under Ayushman Bharat Scheme?

  1. Registration charges.
  2. Bed charges (General Ward).
  3. Nursing and Boarding charges.
  4. Surgeons, Anaesthetists, Medical Practitioner, Consultants’ fees, etc.
  5. Anaesthesia, Blood Transfusion, Oxygen, O.T. Charges, Cost of Surgical Appliances, etc.
  6. Medicines and Drugs.
  7. Cost of Prosthetic Devices, implants (unless payable separately).
  8. Pathology and radiology tests: radiology to include but not be limited to X-ray, MRI, CT Scan, etc.
  9. Food to patient.
  10. Pre and Post Hospitalisation expenses: Expenses incurred for consultation, diagnostic tests and medicines before the admission of the patient in the same hospital, and up to 15 days of the discharge from the hospital for the same ailment/ surgery.
  11. Any other expenses related to the treatment of the patient in the EHCP.

Will a Ayushman Card be given to the beneficiary?

  • A dedicated PM-JAY (प्रधान मंत्री जन आरोग्य) family identification number will be allotted to eligible families.
  • Additionally, an e-card will also be given to beneficiary at the time of hospitalization.

Leave a Comment