Driving License New Rules 2022: ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के नियम में हुआ बदलाव

ड्राइविंग लाइसेंस के नियम में बदलाव | Driving License New Rules 2022 | rto new rules for driving license | new rules for driving license | dl new rules in hindi

Driving License New Rules 2022: नमस्कार दोस्तों, आज हम आप लोगों को एक जरुरी सूचना देने जा रहे हैं। आज की पोस्ट में हम आपको बताएंगे ड्राइविंग लाइसेंस से संबंधित जो परिवहन मंत्रालय में Driving license new update 2022 जारी किया है उसके बारे में l अगर आप भी 18 वर्ष आयु पार कर चुके हैं और आपके पास कोई ड्राइविंग लाइसेंस नहीं है, और आप चाहते हैं कि ड्राइविंग लाइसेंस आपका भी तो बन जाए, तो हमारी यह पोस्ट पूरी पढ़ें क्योंकि Driving License New Rules में बिल्कुल नया तरीका बताया गया है की आप किस तरह से इसके लिए आवेदन कर सकते हैं।

ड्राइविंग लाइसेंस 2022 के नए नियम

केंद्रीय सड़क परिवहन और हाईवे मंत्रालय ने ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के नियमों में कुछ बदलाव किये हैं। ड्राइविंग लाइसेंस को लेकर सरकार द्वारा किये गए बदलाव के अनुसार बिना आरटीओ के चक्कर लगाए ही ड्राइविंग लाइसेंस मिल जाएगा। साथ ही आरटीओ जाकर अब कोई ड्राइविंग टेस्ट देने की आवश्यकता नहीं है।

बताते चलें की ये नियम लागू हो चुके हैं। इस नियम में बदलाव के बाद अब उन सभी हजारों लोगों को फायदा होगा जिन्होंने ड्राइविंग लाइसेंस (Driving License New Rules) बनवाने के लिए आरटीओ की सूची में वेटिंग में हैं।

वहीं जिस युवा को फोर व्हीलर अथवा सिक्स व्हीलर के लिए ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना होता था तो उसे उसी व्हीकल का टेस्ट देना पड़ता था और उसके पास होने पर ड्राइविंग लाइसेंस बना दिया जाता था। लेकिन दोस्तों अभी ऐसा कुछ नहीं होने वाला है क्योंकि अब 2022 में परिवहन मंत्रालय ने ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने हेतु नियमों में बड़े बदलाव कर दिए हैं कि आप को जानना बहुत जरूरी है।

ये हैं Driving License New Rules

चलिए नजर डालते हैं ड्राइविंग लाइसेंस के नए नियमों के बारे में और देखते हैं की इनमे क्या तब्दीलियाँ हुई हैं। तो ये रहे नए नियम जो हमने आपको नीचे विस्तार में बता दिया हैं।

  • अधिकृत एजेंसी द्वारा ये सुनिश्चित किया जाएगा की दोपहिया, तिपहिया और हलके मोटर वाहन चालने की ट्रेनिंग देने वाले ट्रेनिंग सेंटर्स के पास कम से कम एक एकड़ जमीन होनी चाहिए।
  • जो सेंटर्स मध्यम और भारी यात्री माल वाहनों या ट्रेलरों के लिए ट्रेनिंग देंगे उनके पास दो एकड़ जमीन होना आवश्यक है।
  • सेंटर के ट्रेनर के पास कम से कम 5 वर्षों का ड्राइविंग का अनुभव होना आवश्यक है।
  • ट्रेनर को यातायात के सभी नियमों का पता होना चाहिए, साथ ही वो 12 वीं पास भी होना चाहिए।
  • मंत्रालय द्वारा (Driving License New Rules) एक शिक्षण पाठ्यक्रम भी निर्धारित किया गया है। जिसके अनुसार हलके मोटर वाहन चलाने के लिए अधिकतम 4 हफ्ते का पाठ्यक्रम होगा जो 29 घंटों चलेगा।
  • इन ड्राइविंग सेंटर्स के पाठ्यक्रम 2 हिस्सों में बांटे जाएंगे – प्रैक्टिकल और थ्योरी।
  • लोगों को 21 घंटों की ट्रेनिंग बुनियादी सड़कों, ग्रामीण सड़कों, राजमार्गों, शहर की सड़कों, रिवर्सिंग और पार्किंग, चढ़ाई और डाउनहिल ड्राइविंग वगैरह पर गाड़ी चलाने के लिए दी जाएगी।
  • इनमे से पूरे कोर्स के 8 घंटे थ्योरी के लिए होंगे। जिसमें व्यक्ति को रोड संबंधी शिष्टाचार को समझना, रोड रेज, ट्रैफिक शिक्षा के तहत बताया जायेगा।
  • दुर्घटनाओं की वजहों को समझना, प्राथमिक चिकित्सा और ड्राइविंग ईंधन दक्षता को समझना आदि सम्मिलित होगा।

अब ऐसे बनेगा आप का ड्राइविंग लाइसेंस

हम आपको बता दें की अगर आप भी अभी तक ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए आरटीओ ऑफिस में अपनी नंबर का इन्तजार कर रहे हैं तो आप को और इंतज़ार करने की आवश्यकता नहीं है। अब (Driving License New Rules) आप सिर्फ अपने नज़दीकी ड्राइविंग स्कूल में जाकर ड्राइविंग की ट्रेनिंग ले लें और वहीँ से अपना ड्राइविंग लाइसेंस बनवा सकते हैं। जी हाँ अब आप मान्यता प्राप्त ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल में ही अपनी ट्रेनिंग पूरी करने के बाद ही स्कूल में टेस्ट दे सकते हैं। इस के बाद आप को ट्रेनिंग स्कूल से एक सर्टिफिकेट दिया जाएगा जिस के आधार पर ड्राइविंग लाइसेंस भी बन जाएगा।

Indian Army SSC Recruitment 2022: 59वें पुरुष और 30वीं महिला एसएससी पाठ्यक्रम अधिसूचना

Leave a Comment