How to Save Tax: सालाना 10 लाख की कमाई पर भी नहीं देना होगा टैक्स, जानें कैसे

इनकम टैक्स डिडक्शन | इनकम टैक्स रूल्स इन हिंदी | How to Save Tax | इनकम टैक्स में छूट के उपाय | income tax for 10 lakh salary

How to Save Tax: टैक्स प्लानिंग कोई रॉकेट साइंस नहीं है। हर साल 10 लाख रुपये या उससे कम कमाई करने वाले लोगों के लिए टैक्स बचाना आसान है। अगर आप टैक्स प्लानिंग (Tax Planning) करना चाहते हैं तो इसकी शुरुआत आपको अभी से करनी चाहिए। एक साल में 10 लाख रुपये या उससे कम कमाई करने वाले धारा 80सी के तहत टैक्स सेविंद स्कीम, धारा 80CCD (1B) के तहत NPS, एजुकेशन या होम लोन और इंश्योरेंस प्रीमियम की मदद से उनके द्वारा दिए जाने वाले टैक्स को शून्य कर सकते हैं।

How to Save Tax
How to Save Tax

हर नौकरी पेशा व्यक्ति को अपनी सैलरी का एक हिस्सा टैक्स (How to Save Tax) के रूप में सरकार को देना पड़ता है. वित्त वर्ष 2021-2022 लगभग खत्म होने वाला है। ऐसे में टैक्स सेव करने का यह आपका आखिरी मौका है। अगर कोई व्यक्ति सही तरीके से निवेश करें तो उसे अपनी 10 लाख रुपये की सालाना सैलरी पर एक रुपये टैक्स नहीं देना पड़ेगा। इसके साथ ही आप भविष्य की बेहतर प्लानिंग कर पाएंगे। तो चलिए समझते हैं कि किस तरह 10 लाख रुपये की सालाना सैलरी पर किस तरह टैक्स सेविंग का लाभ उठा सकते हैं।

होम लोन का मिलेगा फायदा

आपको बता दें कि इनकम टैक्स के नियम के अनुसार सबसे ज्यादा टैक्स छूट का लाभ होम लोन पर मिलता है। होम लोन में लोन की राशि और ब्याज दोनों पर अलग-अलग टैक्स छूट (How to Save Tax) मिलती है। इनकम टैक्स की धारा 24 B के तहत होम लोन पर आप 2 लाख तक के टैक्स छूट को क्लेम कर सकते हैं। इसके बाद आपकी कुल सैलरी बची 6 लाख रुपये।

हेल्थ इंश्योरेंस पर मिलेगा फायदा

होम लोन का फायदा मिलने के बाद आप खुद के लिए और परिवार के लिए हेल्थ इंश्योरेंस खरीदें। इसमें आपको 25,000 रुपये तक के टैक्स छूट (How to Save Tax) का लाभ मिलेगा। इसके अलावा आप अपने 60 साल से ऊपर के माता पिता के लिए हेल्थ इंश्योरेंस खरीदते हैं तो आपको 50 हजार रुपये का एक्स्ट्रा लाभ मिलेगा। आपकी कुल सैलरी बची 5.25 लाख रुपये।

इसके बाद आप 25 हजार रुपये का चंदा देते हैं एक साल में तो इसे भी क्लेम करें। इसके बाद आपकी कुल राशि हुए 5 लाख। आपके 2.5 लाख की इनकम पर 5 प्रतिशत के अनुसार 12,500 रुपये की देनदारी बनी। सरकार ने 12,500 रुपये की देनदारी को माफ कर दिया है तो आपको एक रुपये भी टैक्स के रूप में नहीं देना पड़ेगा।

नेशनल पेंशन सिस्टम में निवेश करने पर मिलेगा टैक्स छूट का लाभ (How to Save Tax)

आपको बता दें की नेशनल पेंशन सिस्टम में निवेश करने पर आपको इनकम टैक्स की धारा 80C के तहत 1.5 लाख रुपये के टैक्स छूट का लाभ मिलेगा। इस धारा का लाभ लेने के लिए आप EPF, PPF, बच्चों के स्कूल की ट्यूशन फीस आदि शो करके इस धारा का लाभ उठा सकते हैं। इसके बाद सरकार की नेशनल पेंशन सिस्टम में निवेश कर अतिरिक्त 50 हजार रुपये का टैक्स छूट (How to Save Tax) का लाभ उठाएं। इसके बाद आपकी सालाना सैलरी 8.5 लाख बची। इसके बाद आपके आप स्टैंडर्ड डिडक्शन के रूप में 50 हजार और कट जाएंगे और आपकी कुल सैलरी 8 लाख रुपये की बची।

स्टैंडर्ड डिडक्शन का फायदा

जैसा की आप जानते ही हैं सरकार नौकरी या पेंशन पाने वाले लोगों को स्टैंडर्ड डिडक्शन का फायदा देती है। अभी एक वित्त वर्ष में आपकी कुल आय पर 50,000 रुपये का (How to Save Tax) स्टैंडर्ड डिडक्शन मिलता है। इसका लाभ नौकरी वाले सभी टैक्सपेर्यस को मिलता है। इस तरह अगर आपकी सालाना इनकम 10,00,000 रुपये है तो स्टैंडर्ड डिडक्शन के बाद आपकी इनकम 9.5 लाख रुपये रह जाएगी।

सेक्शन 80सी (How to Save Tax)

अब हम आपको जो बताने जा रहे हैं, उसको आप ध्यान से पढ़ें और समझ लें। इनकम टैक्स के सेक्शन 80सी के तहत आप सालाना 1.5 लाख रुपये इनवेस्ट कर डिडक्शन हासिल कर सकते हैं। सेक्शन 80सी के तहत लाइफ इश्योरेंस प्रीमियम, पीपीएफ, म्यूचुअल फंड की टैक्स सेविंग्स (How to Save Tax) स्कीम, पीपीएफ, दो बच्चों की ट्यूशन फीस, होम लोन के प्रिंसिपल सहित कई चीजें आती हैं। अगर आप इस सेक्शन का पूरा फायदा उठाते हैं तो आपकी टैक्सबेल इनकम घटकर 8 लाख रुपये (स्टैंडर्ड डिडक्शन के बाद 1.5 लाख रुपये घटाने पर) रह जाएगी।

Leave a Comment