LIC Bachat Plus: सुरक्षा के साथ सेविंग्स भी, जानें डिटेल

LIC Bachat Plus: एलआईसी बचत प्लस ये एक तरह का नॉन लिंक्ड इंडीविजुअल, लाइफ एश्योरेंस सेविंग प्लान है। इस योजना में ऑनलाइन और ऑफलाइन, दोनों तरीकों से निवेश किया जा सकता है।

साथ ही यदि मैच्योरिटी की अवधि पूरी होने से पहले पॉलिसी लेने वाले की मृत्यु हो जाए तो उसके परिवार को बीमा राशि दी जाती है। साथ ही अगर पॉलिसीहोल्डर पॉलिसी मैच्योर होने की तारीख तक जीवित रहता है तो खुद उसे मैच्योरिटी अमाउंट का भुगतान किया जाता है।

एलआईसी द्वारा कई तरह की योजनाएं चलाई जाती हैं, जिनमें निवेश करके आप अपने पैसे को सुरक्षित तरीके से बढ़ा सकते हैं। अगर आप निवेश करने की योजना बना रहे हैं तो आप एलआईसी के बचत प्लस प्लान (LIC Bachat Plus) में निवेश कर सकते हैं।

प्रीमियम की बारीकियां

पॉलिसी के तहत बेसिक सम एश्योर्ड 1 लाख रुपये है। वहीं इसकी अधिकतक कोई सीमा नहीं है।

प्रीमियम का भुगतान 5 साल की LIC Bachat Plus सीमित अवधि के लिए एकमुश्त सिंगल प्रीमियम के तौर पर या फिर लिमिटेड प्रीमियम पेमेंट के तौर पर किया जा सकता है।

अगर किस्तों में प्रीमियम भरना चाहते हैं तो इसे मासिक, तिमाही, छमाही या सालाना आधार पर भरा जा सकता है।

अगर आप बिना किसी एजेंट या मध्यस्थ के LIC Bachat Plus पॉलिसी ऑनलाइन खरीदते हैं तो छूट भी मिलती है। यह सिंगल प्रीमियम विकल्प के मामले में प्रीमियम का 2 पर्सेंट और लिमिटेड प्रीमियम विकल्प के मामले में प्रीमियम का 7 पर्सेंट रहेगा।

मृत्यु होने पर रकम

यदि LIC Bachat Plus पॉलिसीधारक की मृत्यु हो जाती है तो सम एश्योर्ड के लिए सिंगल प्रीमियम और लिमिटेड प्रीमियम पेमेंट के तहत दो-दो विकल्प दिए गए हैं।

सिंगल प्रीमियम के तहत व्यक्ति को पहले से चुने गए बेसिक सम एश्योर्ड के लिए टैब्युलर प्रीमियम की 10 गुना या फिर 1.25 गुना रकम दी जाएगी।

हीं लिमिटेड प्रीमियम पेमेंट के तहत चुने गए बेसिक सम एश्योर्ड के लिए टैब्युलर प्रीमियम प्लस मॉडल लोडिंग के 10 गुने से अधिक या फिर मैच्योरिटी पर गारंटीड सम एश्योर्ड जैसे कि बेसिक सम एश्योर्ड से अधिक।

साथ ही चुने गए बेसिक सम एश्योर्ड के लिए टैब्युलर प्रीमियम प्लस मॉडल लोडिंग के 7 गुने से अधिक  या फिर मैच्योरिटी पर गारंटीड सम एश्योर्ड जैसे कि बेसिक सम एश्योर्ड से अधिक का विकल्प दिया गया है।

यहां LIC Bachat Plus टैब्युलर प्रीमियम का मतलब चुने गए विकल्प और बेसिक सम एश्योर्ड के लिए सिंगल प्रीमियम या लिमिटेड प्रीमियम पेमेंट के लिए लागू प्रीमियम की सुविधा भी है।

LIC Bachat Plus योजना के लाभ

  • इस खास बचत प्लस प्लान (LIC Bachat Plus) में सुरक्षा के साथ-साथ बचत की भी गारंटी दी जाती है।
  • इस पॉलिसी के तहत अगर पॉलिसीधारक की मृत्यु हो जाती है तो उसके परिवार को आर्थिक मदद मिलती है।
  • वहीं अगर पॉलिसीधारक पॉलिसी के अंत तक जिंदा रहता है,तो मैच्योरिटी के बाद पॉलिसीधारक को एकमुश्त राशि मिलती है।

​LIC Bachat Plus पॉलिसी लेने की उम्र

सिंगल प्रीमियम के दोनों विकल्पों के तहत जन्म के 90 दिन पूरे हो चुके हों और वहीं लिमिटेड प्रीमियम में पहले विकल्प के तहत जन्म के 90 दिन पूरे हो चुके हों तो दूसरे के तहत मिनिमम एंट्री ऐज 40 साल है।

अधिकतम उम्र सीमा की बात की जाए तो LIC Bachat Plus सिंगल प्रीमियम में ये पहले विकल्प के तहत 44 साल, दूसरे विकल्प के तहत 70 साल है।

साथ ही लिमिटेड प्रीमियम में पहले विकल्प के तहत 60 साल, दूसरे विकल्प के तहत 65 साल. इसकी न्यूनतम मैच्योरिटी सीमा 18 साल रखी गई है।

अगर अधिकतम मैच्योरिटी सीमा की बात की जाए तो सिंगल प्रीमियम में पहले विकल्प के तहत 65 साल, दूसरे विकल्प के तहत 80 साल, लिमिटेड प्रीमियम में पहले विकल्प के तहत 75 साल, दूसरे विकल्प के तहत 80 साल रखी गई है।

LIC Bachat Plus मैच्योरिटी पर ये होगा फायदा

अगर पॉलिसी खरीदने वाला उसकी मैच्योरिटी तारीख तक जीवित रहता है तो उसे मैच्योरिटी रकम का भुगतान किया जाएगा। साथ ही अगर कोई लॉयल्टी अतिरिक्त है तो वह भी दी जाएगी।

मैच्योरिटी रकम, बेसिक सम एश्योर्ड के बराबर होगी। LIC Bachat Plus पॉलिसीधारक चाहे तो मैच्योरिटी का फायदा एकमुश्त ले सकता है या फिर चाहे तो इसे 5 या 10 या 15 साल की अवधि में किस्तों में पा सकता है।

इसी तरह डेथ बेनिफिट भी 5,10 या 15 साल की अवधि में किस्तों में या फिर एकमुश्त पाया जा सकता है।

लोन का भी फायदा

एलआईसी बचत प्लस प्लान में लोन की सुविधा भी है। सिंगल प्रीमियम विकल्प में लोन, पॉलिसी के 3 माह पूरे होने के बाद या फिर फ्री लुक पीरियड पूरा होने के बाद लिया जा सकता है।

लिमिटेड प्रीमियम पेमेंट विकल्प में लोन कम से कम 2 साल के प्रीमियम दिए जाने के बाद मिलेगा।

फ्री लुक पीरियड का मतलब होता है कि अगर पॉलिसीधारक, पॉलिसी से संतुष्ट नहीं है तो ऑफलाइन पॉलिसी के मामले में इसे लेने के 15 दिन के अंदर लौटाया जा सकता है। ऑनलाइन ली है तो ऐसा 30 दिन के भीतर किया जा सकता है।

आत्महत्या से जुड़े नियम

LIC Bachat Plus पॉलिसी पर जोखिम शुरू होने के एक साल के अंदर अगर पॉलिसीहोल्डर आत्महत्या कर लेता है तो पॉलिसी वॉइड हो जाएगी और सिंगल प्रीमियम का 90 फीसदी लौटा दिया जाएगा।

लिमिटेड प्रीमियम पेमेंट के मामले में चुकाए जा चुके प्रीमियम का 80 फीसदी लौटाया जाएगा। याद रहे कि 8 साल से कम उम्र वाले पॉलिसीहोल्डर के मामले में सुसाइड क्लॉज लागू नहीं होगा।

LIC Bachat Plus के अन्य खासियत

सिंगल प्रीमियम पेमेंट के मामले में पॉलिसी को मैच्योरिटी से पहले कभी भी सरेंडर किया जा सकता है। अगर पहले वर्ष में पॉलिसी सरेंडर कर रहे हैं सिंगल प्रीमियम की 75 फीसदी रकम मिलेगी।

इसके बाद सरेंडर करने पर LIC Bachat Plus सिंगल प्रीमियम की 90 फीसदी रकम मिल जाएगी। लिमिटेड प्रीमियम पेमेंट विकल्प में कम से कम 2 साल के प्रीमियम का भुगतान किए जाने के बाद सरेंडर किया जा सकता है।

एलआईसी बचत प्लस प्लान में आप लोन भी ले सकते हैं।

LIC Bachat Plus फ्री लुक पीरियड की बात करें तो अगर पॉलिसीधारक पॉलिसी से संतुष्ट नहीं है तो ऑफलाइन पॉलिसी के मामले में इसे लेने के 15 दिन के अंदर लौटाया जा सकता है। ऑनलाइन ली है तो ऐसा 30 दिन कें अंदर किया जा सकता है।

Leave a Comment