Mahatma Gandhi Swasthya Bima Yojana: राजस्थान सरकार की इस स्कीम में मिलेगा इलाज के लिए 5 लाख, जानें इसके बारे में सबकुछ

Mahatma Gandhi Swasthya Bima Yojana: राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 151वीं जयंती वर्ष में राज्य सरकार द्वारा शनिवार से आयुष्मान भारत महात्मा गांधी राजस्थान सरकार स्वास्थ्य बीमा योजना के नवीन चरण का शुभारंभ किया जा रहा हैं।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. गजेंद्र सिंह देवल ने बताया कि राजस्थान सरकार द्वारा शनिवार से आयुष्मान भारत योजना के नवीन चरण का शुभारंभ किया जा रहा है।

राजस्थान (Rajasthan) के गरीब लोगों को कैशलेस इलाज की पेशकश करने वाली एक चिकित्सा बीमा योजना पहले से ही लागू थी लेकिन किसी वजह से उसको बंद करके इस योजना को लाया गया।

इस योजना का अंतिम उद्देश्य आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों को मुफ्त इलाज की पेशकश करना भी है।

Mahatma Gandhi Swasthya Bima योजना में मिलने वाले यह लाभ होंगे

योजना के अंतर्गत चिन्हित सामान्य बीमारियों के लिये 50 हजार रुपए एवं गंभीर बीमारियों के लिये 4 लाख 50 हजार रुपए प्रतिवर्ष बीमा कवर उपलब्ध होगा।

Mahatma Gandhi Swasthya Bima योजना के अंतर्गत विभिन्न बीमारियों के 1576 पैकेज शामिल किये गये है। योजना में संबद्घ निजी एवं सरकारी अस्पतालों में लाभार्थी परिवार नि:शुल्क उपचार ले सकते हैं।

मरीज के अस्पताल में भर्ती होने से पांच दिन पहले का तथा डिस्चार्ज के बाद पंद्रह दिनों का चिकित्सा व्यय नि:शुल्क पैकेज में शामिल हैं।

एंटी फ्रॉड इकाई

गहलोत ने कहा कि यह एक एंटी-फ्रॉड इकाई बनाई गई है। चार-पांच एजेंसियां थर्ड पार्टी के रूप में अस्पताल और लाभार्थी के लेखे-जोखे का ध्यान रखेंगी।

ऐसी स्कीमें बनती हैं तो ऐसी चैकिंग होना जरूरी है। हमने अधिकारियों को आंध्रप्रदेश भेजा लेकिन पता चला कि कई जगह गड़बड़ हुई हैं।

इसलिए हमने आंध्रप्रदेश की योजना को स्वीकार नहीं किया और खुद की Mahatma Gandhi Swasthya Bima योजना लाए।

सरकार ने ट्वीट कर दी जानकारी

इस Mahatma Gandhi Swasthya Bima स्कीम को लेकर सरकार की ओर से एक जरूरी सूचना जारी की गई है। सरकार ने ट्वीट कर कहा है कि प्रदेश में 1 मई से मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना लागू की जा रही है।

जिसमें प्रदेश के सभी परिवारों को चुने गए निजी एवं सभी सरकारी अस्पतालों में 5 लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध हो सकेगा और साथ ही योजना के लिए रजिस्ट्रेशन के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारी भी शेयर की है।

सरकार करेगी पूरा खर्च वहन

Mahatma Gandhi Swasthya Bima योजना से जुड़ने की प्रक्रिया हुई सरल 2 लघु एवं सीमान्त कृषक, संविदाकर्मियों तथा गत वर्ष राज्य सरकार द्वारा कोविड-19 अनुग्रह राशि भुगतान प्राप्त करने वाले निरश्नित एवं असहाय परिवारों का सम्पूर्ण प्रीमियम राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।

ऐसे ई-मिन्र जो पंजीयन अभियान के दौरान अपने क्षेत्र के लाभार्थियों में से 80 फीसदी से अधिक रजिस्ट्रेशन करवाते हैं तो उन्‍हें प्रति रजिस्ट्रेशन 5 रुपये का प्रोत्साहन भी दिया जाएगा।

इस Mahatma Gandhi Swasthya Bima योजना में गंभीर बिमारियों को किया गया है शामिल

जानकारी के अनुसार, योजना में पैकेज की संख्या भी 1401 से बढ़ाकर 1576 कर दी गई है।

स्वास्थ्य बीमा की इस योजना के पैकेज की सूची में कोविड-19 और हीमोडायलिसिस जैसे गंभीर रोगों को भी शामिल किया गया है।इसमें भर्ती से 5 दिन पहले और डिस्‍चार्ज के 15 दिन बाद तक का चिकित्सा खर्च लाभार्थी परिवार को उपलब्ध कराया जाएगा।

प्रदेश के 1 करोड़ से ज्यादा परिवारों को मिलेगा योजना का फायदा

आपको बता दें कि आयुष्मान भारत-महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना के नए चरण के तहत लाभार्थियों को अब 3.30 लाख के स्थान पर 5 लाख रुपए का निशुल्क उपचार मिल सकेगा।

इस Mahatma Gandhi Swasthya Bima योजना से प्रदेश के 1.10 करोड़ परिवारों को निशुल्क उपचार की सुविधा मिल सकेगी। इसमें सामाजिक आर्थिक जनगणना के पात्र परिवार भी शामिल किये जा रहे हैं।

योजना के तहत लाभार्थी को सामान्य बीमारियों के लिए 50 हजार रुपये और गंभीर बीमारियों के लिए 4.50 लाख रुपये तक का निशुल्क इलाज मिल सकेगा।

इसमें NFSA के 98 लाख लाभार्थी परिवार भी शामिल होंगे। Mahatma Gandhi Swasthya Bima योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी को अस्पताल में आधार कार्ड या फिर जनाधार कार्ड दिखाना होगा।

निजी अस्पताल भी कर सकते हैं आवेदन

सीएमएचओ डॉ देवल ने बताया कि महात्मा गाँधी स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत जिले में वर्तमान में 13 सरकारी एवं 7 निजी अस्पताल सम्बद्ध किए गए है।

निजी अस्पताल को योजना के तहत जुड़ऩे हेतु वेबसाइट डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू डॉट हैल्थ डॉट राजस्थान डॉट इन व एबीएमजीआरएसबीवाइ पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते है।

Mahatma Gandhi Swasthya Bima योजना में पात्रता इस प्रकार रहेगी

महात्मा गांधी राजस्थान सरकार स्वास्थ्य बीमा योजना में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के पात्र परिवार के सभी सदस्य एवं प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत Mahatma Gandhi Swasthya Bima सामाजिक आर्थिक जनगणना के पात्र परिवार के सभी सदस्य योजना के अंतर्गत पात्र होंगे।

Leave a Comment