Majdur Yojana Aavedan: क्या है यह योजना, जानिये यहाँ इसके बारे में सबकुछ

मजदूर भत्ता योजना उत्तर प्रदेश | Majdur Yojana Aavedan Online Apply | मजदूर भत्ता योजना फॉर्म | Majdur Bhatta Yojana in Hindi | योगी मजदूर योजना | यूपी भरण पोषण योजना

Majdur Yojana Aavedan: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा कोरोना वायरस को लेकर एक बड़ा ऐलान किया गया है, दिहाड़ी मजदूर (अर्थात जो मजदूर रोज मजदूरी करके और सिर्फ मजदूरी करके ही अपना घर चला सकते हैं) ₹1000 प्रति व्यक्ति देने का फैसला किया है। योगी जी का कहना है कि प्रधानमंत्री के सहयोग के साथ कोरोना वायरस से लड़ने के लिए राज्य के दैनिक श्रमिकों के भरण-पोषण की व्यवस्था का एक जरिया है। इस योजना (Majdur Yojana Aavedan) के तहत सरकार सभी मजदूरों को कवर करेगी जैसे कि ठेला, रिक्शा, E-रिक्शा, पल्लेदार आदि श्रमिकों को ₹1000 का भरण-पोषण भत्ता दिया जा रहा है। योजना के सफलता पूर्वक संचालन के लिए राज्य के नगर विकास निगम को अधिकृत किया गया है।

Majdur Yojana Aavedan
Majdur Yojana Aavedan

कोरोना वायरस के चलते देश में मंदी है, ऐसे में देश की आर्थिक स्थिति और अर्थव्यवस्था भी नीचे जा रही है। मजदूर (Labor) वर्ग के लोगों या सरकारी मजदूरों के लिए वेतन योजना (Majdur Yojana Aavedan) जो ऊपर गई कि इन लोगों को एक निश्चित राशि सीधे उनके बैंक खाते में भेजी जाएगी।

डेढ़ करोड़ श्रमिकों के खाते में हस्तांतरित की गई राशि

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 3 जनवरी 2022 को राज्य के डेढ़ करोड़ असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को योजना के पहले चरण के अंतर्गत भरण-पोषण भत्ता प्रदान किया जाएगा। यह भत्ता ₹1000 का होगा। प्रत्येक श्रमिक के खाते में ₹1000 की राशि ट्रांसफर की जाएगी। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा (Majdur Yojana Aavedan) कोरोना वायरस की तीसरी लहर की आशंका को ध्यान में रखते हुए असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को भरण-पोषण भत्ता देने का निर्णय लिया गया है। इस योजना के अंतर्गत ₹2000 की राशि प्रदान की जाती है। यह राशि ₹1000 की 2 किस्तों में प्रदान की जाती है।

इसी स्थिति के चलते राज्य के नागरिकों के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने योगी मजदूर योजना की शुरुआत की थी, ताकि लोगों को पूर्ण कोरोना की इस स्थिति के चलते हो रही परेशानियों को थोड़ा कम किया जा सके। हालांकि अभी भी कोरोना महामारी पूर्णरूप से ख़त्म नहीं हुई है। कोरोना की तीसरी लहर आने की संभावना है इसलिए सरकार ने योजना को लागू किया हुआ है।

Majdur Yojana Aavedan के लाभार्थी

इसके लाभार्थी (Majdur Yojana Aavedan) हमने नीचे लिखे हुए हैं, जो की इस प्रकार हैं:

  • रिक्शा चालक।
  • पटरी व्यवसायियों।
  • निर्माण श्रमिकों।
  • अंत्योदय श्रेणी के लोगों।
  • स्ट्रीट वेंडर।
  • पल्लेदार।
  • सड़क किनारे (Majdur Yojana Aavedan) रेडी खोमचा लगाने वाले।
  • रिक्शा चालक।
  • ठेला चालक।
  • नाई।
  • धोबी।
  • दर्जी।
  • मोची।
  • फल और सब्जी विक्रेता
  • दिहाड़ी मजदूर।
  • हलवाई।

2.5 करोड़ श्रमिक हो चुके हैं Majdur Yojana Aavedan के तहत पंजीकृत

अब तक उत्तर प्रदेश असंगठित कर्मकार सामाजिक सुरक्षा बोर्ड में 2.5 करोड़ श्रमिक पंजीकृत हो चुके हैं। भत्ते की राशि सीधे श्रमिकों के खाते में वितरित की जाएगी। इसके अलावा सभी लाभवंती होने वाले श्रमिकों को अपने खाते को आधार से लिंक करवाना होगा। वह सभी नागरिक जिनको किसान सम्मान निधि या अन्य किसी माध्यम से भरण-पोषण भत्ता प्रदान किया जा रहा है उन्हें कोई भी धनराशि नहीं प्रदान की जाएगी। सरकार द्वारा कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए भरण-पोषण भत्ता वितरण के लिए आवश्यक कार्यवाही जल्द पूरी करने के निर्देश भी दिए गए हैं।

Uttar Pradesh Yogi majdur yojana के लाभ

योजना को कोरोना वायरस से लड़ने के लिए लांच किया गया है, ताकि राज्य के सभी मजदूर इस योजना (Majdur Yojana Aavedan) का लाभ उठा सकें इसलिए इस योजना के कुछ महत्वपूर्ण लाभ निम्न प्रकार से हैं:

  • निशुल्क राशन का लाभ व्यक्ति अपने नजदीकी PDS दुकान से उठा सकता है।
  • योजना के तहत गरीब मजदूरों को ₹1000 की राशि प्रदान की जाएगी।
  • रिक्शा, ठेला, ई-रिक्शा, रेहड़ी, फेरी वाले, निर्माण कार्य करने वाले मजदूर आदि को इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • योजना के तहत 35 लाख daily wage workers को इस योजना का लाभ मिलेगा।
  • योगी मजदूर योजना का लाभ केवल राज्य के मजदूर व्यक्ति ही उठा सकते हैं।
  • योजना के तहत दी जाने वाली राशि DBT (Direct benefit transfer) मोड में सीधे मजदूर के खाते में हस्तांतरित की जाएगी।
  • योगी मजदूर योजना के चलते BPL राशन कार्ड धारकों को 20 किलो गेहूं और 15 किलो चावल निशुल्क प्रदान किए जाएंगे।

23 लाख श्रमिकों को पहुंचाया गया योजना का लाभ

इस योजना (Majdur Yojana Aavedan) को उत्तर प्रदेश के श्रमिकों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए आरंभ किया गया था। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा 9 जून 2021 को 23 लाख श्रमिकों के खाते में इस योजना के अंतर्गत 230 करोड़ रुपए की राशि हस्तांतरित की गई है। यह राशि ऑनलाइन मोड से ट्रांसफर की गई है। इस मौके पर मुख्यमंत्री जी द्वारा कोरोना के खिलाफ लड़ाई में श्रमिकों के योगदान की सराहना की गई है एवं यह भी आश्वासन दिया गया है कि आने वाले समय में किसानों, श्रमिकों, युवाओं, कामगारों आदि के हित की सुरक्षा के लिए सरकार प्रतिबद्धता से काम करेगी।

Majdur Yojana Aavedan के माध्यम से लगभग 23 लाख से ज्यादा कंस्ट्रक्शन कामगारों को ₹1000 की राशि उनके खाते में प्रदान की गई है। इस मौके पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा असंगठित क्षेत्र के कामगारों के पंजीकरण के लिए भी एक पोर्टल का आरंभ किया गया है। इसके अलावा श्रमिकों के हित के लिए सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार की योजनाएं जैसे कि विवाह सहायता योजना, बच्चों के लिए शिक्षा और स्वास्थ्य योजना आदि जैसी योजनाएं संचालित की जा रही है।

योजना के लिए पात्रता

इस योजना (Majdur Yojana Aavedan) के लिए पात्रता कुछ इस प्रकार हैं:

  • श्रम विभाग, नगर विकास और ग्राम सभाओं में पंजीकृत मजदूरों को इस योजना का लाभ मिलेगा।
  • आवेदक उत्तर प्रदेश का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • अगर आपके पास श्रम विभाग, नगर विकास या ग्राम सभाओं में से किसी का भी कोई पंजीकृत सर्टिफिकेट या दस्तावेज नहीं है तो आपको भी इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।

आवेदन कैसे करें

आप सब को यह बता दें कि योगी मजदूर योजना (Majdur Yojana Aavedan) के आवेदन के बारे में सरकार ने अभी तक कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी है। अभी तक सरकार की ओर से न तो कोई ऑनलाइन पोर्टल बनाया गया है और न ही कोई ऑफलाइन फॉर्म निकाला गया।

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि सरकार के पास 15 लाख दिहाड़ी मजदूर और 20.37 लाख निर्माण श्रमिक पंजीकृत हैं, और इन श्रमिकों (Majdur Yojana Aavedan) का पूरा डाटा बेस के साथ-साथ बैंक खाते की जानकारी भी सरकार के पास उपलब्ध है।

सूत्रों से अंदाजा लगाया जा रहा है कि सरकार के पास पहले से ही इन मजदूरों का डेटाबेस है और इस कोरोना वायरस की स्थिति को देखते हुए बिना किसी रजिस्ट्रेशन के सीधे मजदूरों के खाते में पैसा भेज दिया जाएगा।

MP Ladli Lakshmi Yojana: बेटियों को मिलेगी 25 हजार की स्कॉलरशिप, घर बैठे ऐसे करें आवेदन

Leave a Comment