Mera Pani Meri Virasat Yojana: हरियाणा सरकार किसानों के खाते में भेज रही 7000रु, जानें कैसे उठा सकते हैं लाभ

Haryana Mera Pani Meri Virasat Scheme Form | Mera Pani Meri Virasat Yojana Apply | हरियाणा मेरा पानी मेरी विरासत योजना रजिस्ट्रेशन | मेरा पानी मेरी विरासत योजना ऑनलाइन आवेदन

Mera Pani Meri Virasat Yojana: केंद्र सरकार के अलावा भी राज्य सरकारें किसानों के लिए कई तरह की स्कीमें चलाती हैं। जिसमें किसानों को आर्थिक मदद दी जाती है। आज हम यहां पर हरियाणा सरकार द्वारा अपने राज्य के किसानों के लिए दी जा रही आर्थिक मदद के बारे में चर्चा करेंगे। इस Mera Pani Meri Virasat Yojana के तहत हरियाणा सरकार राज्य के किसानों को 7,000 रुपये की आर्थिक सहायता दे रही है। दरअसल, हरियाणा में कई स्थानों पर पानी का लेवल घटता जा रहा है. इसकी वजह से राज्य के किसानों को सिंचाई के लिए अतिरिक्त खर्च करना पड़ रहा है. इसको ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार ने किसानों के लिए इस योजना की शुरुआत की है।

क्या है Mera Pani Meri Virasat Yojana

Mera Pani Meri Virasat Yojana
Mera Pani Meri Virasat Yojana

इस योजना के अंतर्गत  पहले चरण में राज्य के 19 ब्लॉक शामिल किए गए हैं जिनमें भू-जल की गहराई 40 मीटर से ज्यादा है। इनमें से भी आठ ब्लॉक में धान की रोपाई ज्यादा है जिनमें कैथल के सीवन और गुहला, सिरसा, फतेहाबाद में रतिया और कुरुक्षेत्र में शाहाबाद, इस्माइलाबाद, पिपली और बबैन शामिल हैं। इसके अलावा इस Haryana Mera Pani Meri Virasat Scheme के तहत वह क्षेत्र भी किये गए है  जहां 50 हार्स पावर से अधिक क्षमता वाले ट्यूबवेल का इस्तेमाल किया जा रहा है। राज्य के किसान धान के स्थान पर अन्य वैकल्पिक फैसले जैसे  मक्का, अरहर, मूंग, उड़द, तिल, कपास, सब्जी की खेती कर सकते हैं। मुख्यमंत्री जी का कहना है कि जिन ब्लॉक में पानी 35 मीटर से नीचे है, वहां पंचायती जमीन पर धान की खेती की अनुमति नहीं मिलेगी।

हरियाणा मेरा पानी मेरी विरासत योजना का उद्देश्य

आप लोगो को बता दे कि इस वर्ष हरियाणा में ऐसी जगह है जहा पर पानी की कमी के कारण धान की खेती नहीं की जा सकती है, और किसानो से मुख्यमंत्री द्वारा अनुरोध किया गया है कि किसान वहाँ धान की खेती न करे क्योकि धान की खेती में बहुत अधिक पानी लगता है। इसीलिए हरियाणा सरकार वर्तमान सीजन में धान के स्थान पर अन्य वैकल्पिक फसलों की बुआई करने वाले किसानों को Mera Pani Meri Virasat Yojana के तहत 7 हजार रुपये प्रति एकड़ प्रोत्साहन धनराशि आर्थिक सहायता के रूप में प्रदान की जाएगी। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने जल संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश के किसानों से अपील की है। इस योजना के ज़रिये किसानो को फसल विविधिकरण अपनाने के लिए प्रेरित किया गया।

Mera Pani Meri Virasat Yojana की विशेषताएं

  • हरियाणा के मुख्यमंत्री जी ने  जल संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए मेरा पानी मेरी विरासत योजना को लांच किया है।
  • Mera Pani Meri Virasat Yojana के अंतर्गत किसानो को धान की खेती छोड़ने के कोई परेशानी न हो इसलिए राज्य सरकार उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान कर रहे है।
  • हरियाणा राज्य के मुख्यमंत्री जी ने इस योजना को लॉन्च करते हुए कहा है कि डार्क जोन में शामिल क्षेत्रों में रहने वाले जो किसान धान की खेती छोड़ देंगे उन्हें सरकार द्वारा 7000 रूपये प्रति एकड़ की प्रोत्साहन धनराशि प्रदान की जाएगी।
  • राज्य के किसान धान को छोड़कर अन्य वैकल्पित फसलों जैसे मक्का, अरहर, मूंग, उड़द, तिल, कपास, सब्जी आदि की खेती कर सकते है।
  • हरियाणा के सीएम मनोहर लाल ने यह भी जानकारी दी कि मेरा पानी-मेरी विरासत योजना के प्रचार के लिए जल्द ही वेब पोर्टल बनाया जाएगा, जिस पर किसान अपनी समस्याओं का निदान पाने के लिए आवाज उठा सकेंगे।
  • हरियाणा राज्य के किसी  दूसरे ब्लाक में भी इच्छुक किसान धान की खेती छोड़ना चाहते हैं तो वह भी इस योजना के अंतर्गत अनुदान के लिए आवेदन कर पाएंगे।
  • इससे भावी पीढ़ी के लिए पानी की उपलब्धता भी सुनिश्चित कर सकेंगे।

मेरा पानी मेरी विरासत योजना हेतु पात्रता

यदि आप भी Mera Pani Meri Virasat Yojana का आवेदन करना चाहते है तो आवेदन करने से पहले आपको इसकी पात्रता के बारे में पता होना बहुत ही जरुरी है, तभी आप योजना हेतु पंजीकरण कर सकेंगे। आज हम आपको योजना की पात्रता के बारे में बताने जा रहे है जो इस प्रकार से है:

  • योजना का आवेदन करने के लिए आवेदक किसान हरियाणा राज्य के मूलनिवासी होने जरुरी है।
  • आवेदक एक किसान होना चाहिए।
  • आवेदक के पास खुद का बैंक अकाउंट होना बहुत जरुरी है जो आधार कार्ड से लिंक होना अनिवार्य है।
  • आवेदन करने के लिए आवेदक के पास सभी दस्तावेज होने जरुरी है।

Mera Pani Meri Virasat Yojana के दस्तावेज़

  • आवेदक हरियाणा का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • आधार कार्ड।
  • पहचान पत्र।
  • बैंक अकाउंट पासबुक।
  • कृषि योग्य भूमि के कागज़ात।
  • मोबाइल नंबर।
  • पासपोर्ट साइज फोटो।

मेरा पानी मेरी विरासत योजना में आवेदन कैसे करे

राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी इस Mera Pani Meri Virasat Yojana के तहत ऑनलाइन आवेदन करना चाहते है तो वह नीचे दिए गए तरीके को फॉलो करे:

  • सर्वप्रथम आवेदक को योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।
  • इस होम पेज पर आपको New Registration के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा।
  • इस पेज पर आपको अपना आधार नंबर भरना होगा और फिर नेक्स्ट के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • बटन पर क्लिक करने के बाद आपको फार्मर डिटेल्स भरनी होगी फिर टोटल लैंड होल्डिंग और क्रॉप डिटेल्स भरनी होगी।
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस तरह आपका पंजीकरण पूरा हो जायेगा।

Leave a Comment