PM Kisan Maandhan Yojana: कम आय वाले किसानों के लिए बड़ा तोहफा, खाते में आएंगे 3000 रुपए

PM Kisan Mandhan Yojana: केंद्र सरकार किसानों (PM Kisan Maandhan Yojana) की भलाई के लिए कई तरह की पेंशन योजना चला रही है, जिसमें से एक पीएम किसान मानधन योजना (PM Kisan Maandhan Yojana) है। दरअसल, इस साल के बजट में पीएम किसान (PM Kisan Maandhan Yojana) को प्रावधान दोगुना कर दिया गया है। जिसके चलते अब किसानों (PM Kisan Maandhan Yojana) को डबल मुनाफा होने की आशा जताई जा रही है।

आर्थिक समस्या किसानों (PM Kisan Maandhan Yojana) के लिए सबसे बढ़ी चुनौती होती है। कभी कृषि (PM Kisan Maandhan Yojana) से सम्बंधित तो कभी निजी जिंदगी की समस्या रहती है, जो उनके बुढ़ापे तक उनके साथ रहता है। इस सरकारी योजना (PM Kisan Maandhan Yojana) के तहत किसानों को हर साल 36000 रूपए पेंशन के रूप में दिया जाता है।

जिन किसानों (PM Kisan Maandhan Yojana) की इनकम सालाना 1.80 लाख रुपए से कम है, उनका प्रीमियम हरियाणा सरकार भरेगी। हालांकि, हरियाणा से इस योजना (PM Kisan Maandhan Yojana) के तहत बहुत कम रजिस्ट्रेशन हुआ है। जबकि प्रदेश में बीजेपी की सरकार है। पीएम किसान मानधन योजना (PM Kisan Maandhan Yojana) को कृषि उत्पादन बढ़ाने के साथ-साथ अन्य माध्यमों से किसानों (PM Kisan Maandhan Yojana) के विकास की दृष्टि से शुरू किया गया है।

कब हुई योजना (PM Kisan Maandhan Yojana) की शुरुआत

पीएम किसान मानधन योजना (PM Kisan Mandhan Yojana) की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 12 सितंबर 2019 को की थी। इसके (PM Kisan Maandhan Yojana) लिए झारखंड में एक कार्यक्रम हुआ था। जबकि इसके (PM Kisan Maandhan Yojana) लिए रजिस्ट्रेशन एक महीने पहले 9 अगस्त को ही शुरू हो गया था। अन्य किसान (PM Kisan Maandhan Yojana) चाहें तो अपना प्रीमियम पीएम किसान स्कीम (PM Kisan Maandhan Yojana) के तहत मिलने वाले 6000 रुपये में से सीधे भी कटवा सकते हैं।

पीएम किसान मानधन योजना (PM Kisan Mandhan Yojana) के तहत उम्र के अनुसार मासिक योगदान करने के बाद, 60 वर्ष की आयु के बाद, आपको 3000 रुपये मासिक या 36000 रुपये सालाना पेंशन (PM Kisan Maandhan Yojana) का प्रावधान किया गया है।

योजना (PM Kisan Maandhan Yojana) का मुख्य उद्देश्य

इस योजना (PM Kisan Maandhan Yojana) का मुख्य उद्देश्य असंगठित क्षेत्र के कामगारों को बुढ़ापे में सहारा देना है, ताकि (PM Kisan Maandhan Yojana) असंगठित क्षेत्र के मजदूर वर्ग भी 60 साल की उम्र पार करने पर अपने जीवन यापन अच्छे से कर सके।

किसान (PM Kisan Maandhan Yojana) अपने बुढ़ापे को स्वाभिमान के साथ जी सके और किसी दूसरे पर निर्भर न रहना पड़े। योजना (PM Kisan Maandhan Yojana) से प्राप्त राशि का प्रयोग वह अपने खाने, पीने, कपड़ो, दवाई, इत्यादि की जरुरी आवश्यकताओं को पूरा करने में मदद पा सकता है।

क्या है सरकार का मकसद

कृषि उपज के अलावा किसानों (PM Kisan Maandhan Yojana) के पास आय का कोई अन्य स्रोत नहीं है। इसके अलावा, वृद्धावस्था में किसानों का जीवन खराब था। इस पैसे से किसान (PM Kisan Maandhan Yojana) अपने बुढ़ापे को आर्थिक रूप से मजबूत कर सकते हैं। केंद्र सरकार की इस योजना (PM Kisan Maandhan Yojana) के लिए किसानों (PM Kisan Maandhan Yojana) की उम्र 18 से 40 साल के बीच होनी चाहिए और उनके (PM Kisan Maandhan Yojana) पास खाद होनी चाहिए। वहीं, उम्र का प्रमाण, उम्मीदवार किसान (PM Kisan Maandhan Yojana) गरीब और अल्पसंख्यक धारक होना चाहिए। इसके अलावा किसान (PM Kisan Maandhan Yojana) के पास बैंक खाता भी होना चाहिए।

पेंशन मिलेगी लेकिन ये हैं शर्तें

पीएम किसान मानधन योजना (PM Kisan Maandhan Yojana) में कोई भी किसान भाग ले सकता है। इसमें (PM Kisan Maandhan Yojana) पंजीकरण करने के बाद किसानों को रुपय हालांकि प्रीमियम देना होगा। प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना (PM Kisan Maandhan Yojana) के तहत पेंशन पाने के लिए किसान की उम्र 18 से 40 साल के बीच होनी चाहिए। योजना (PM Kisan Maandhan Yojana) के तहत उन्हें प्रति माह 55 से 200 रुपये जमा करने होंगे। इसके बाद किसानों (PM Kisan Maandhan Yojana) को 60 वर्ष पूरे होने पर 3,000 रुपये प्रतिमाह पेंशन मिलेगी।

कितने साल जमा करना होता है प्रीमियम

अगर 18 साल की उम्र में में कोई किसान इस योजना (PM Kisan Maandhan Yojana) में जुड़ता है तो महीने का प्रीमियम 55 रुपये या सालाना 660 रुपये लगेगा। यदि किसान (PM Kisan Maandhan Yojana) की उम्र 40 साल है तो 200 रुपये प्रति माह के हिसाब से प्रीमियम लगेगा। कम से कम 20 साल और अधिकतम 40 साल तक पैसा जमा करना होता है। इसलिए अधिकांश किसान इस योजना (PM Kisan Maandhan Yojana) में शामिल नहीं होना चाहते।

राज्य के 10 हजार किसानों को मिलेगा फायदा

हरियाणा सरकार ने अपने सभी जिला उपायुक्तों को ज्यादा से ज्यादा किसानों को इस स्कीम (PM Kisan Maandhan Yojana) से जोड़ने को कहा है। फरीदाबाद के उपायुक्त जितेंद्र यादव का कहना है कि जिन किसानों (PM Kisan Maandhan Yojana) की वार्षिक इनकम 1.80 लाख रुपए से कम है उनका मानधन योजना (PM Kisan Maandhan Yojana) का प्रीमियम राज्य सरकार भरेगी। परिवार पहचान पत्र से आय वेरीफाई करने के बाद पूरे हरियाणा में ऐसे (PM Kisan Maandhan Yojana) लगभग 10 हजार किसान चिन्हित किए गए हैं। इसका (PM Kisan Maandhan Yojana) फायदा लेने के लिए किसान किसी भी सीएससी केंद्र या अंत्योदय सरल केंद्र पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं।

कैसे जमा होगा पैसा

किसान खुद भी अपने मोबाइल या कंप्यूटर के जरिए पीएम किसान मानधन योजना (PM Kisan Maandhan Yojana) के पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकता है। रजिस्ट्रेशन करवाने के बाद प्रीमियम की पहली किस्त का पैसा किसान (PM Kisan Maandhan Yojana) के खाते से कटेगा। इसके बाद राज्य सरकार उतना ही पैसा ऐसे किसानों (PM Kisan Maandhan Yojana) के बैंक अकाउंट में जमा करवा देगी। आगे का सारा प्रीमियम हरियाणा सरकार जमा करवाएगी। यानी किसान को प्रीमियम की एक भी किस्त नहीं देनी है। किसान आधार कार्ड (aadhaar card) या मोबाइल नंबर (mobile number) द्वारा खुद को रजिस्टर्ड करवा सकते हैं।

किसान मानधन योजना (PM Kisan Maandhan Yojana) के लाभ

  • यदि कोई लाभार्थी चाहता है कि उसका पेंशन योगदान योजना (PM Kisan Maandhan Yojana) से डेबिट हो जाए तो वह इसका विकल्प चुन सकता है।
  • PM Kisan Maandhan Yojana (पीएम किसान मानधन योजना) 5.89 करोड़ सीमांत किसान को दो हजार रुपये की पहली किस्त पहले ही दे चुकी है। बताया जा रहा है कि 41 करोड़ किसानों के लिए दूसरी किस्त अभी शुरू नहीं हुई है।
  • सीमांत किसानों (PM Kisan Maandhan Yojana) को पेंशन के रूप में तीन हजार रुपये मासिक मिलेंगे।

(किसान मानधन योजना)के लिए पात्रता

  • पेंशन योजना (Kisan Maandhan Yojana) वृद्धावस्था संरक्षण के साथ-साथ 2 हेक्टेयर भूमि वाले छोटे और सीमांत किसानों की सामाजिक सुरक्षा के लिए है।
  • 18 से 40 वर्ष की आयु के किसान पंजीकरण (registration) कर सकते हैं और मासिक ले सकते हैं।
  • पीएम किसान मानधन योजना (PM Kisan Maandhan Yojana) के तहत किसानों को सुनिश्चित पेंशन मिलेगी।
  • 60 वर्ष की आयु पूरी करने के बाद 3000 प्रति माह और यदि उनकी (PM Kisan Maandhan Yojana) मृत्यु हो जाती है तो उनके पति या पत्नी परिवार पेंशन के रूप में 50% पेंशन प्राप्त करने के हकदार होंगे।
  • याद रखें कि पारिवारिक पेंशन (PM Kisan Maandhan Yojana) केवल जीवनसाथी पर लागू होती है।

पीएम किसान मानधन योजना (PM Kisan Maandhan Yojana) के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • खतौनी।
  • उम्मीदवार की आयु 18 से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
  • आयु प्रमाण पत्र।
  • उम्मीदवार किसान (PM Kisan Maandhan Yojana) गरीब व् सीमान्त होने चाहिए।
  • 2 हेक्टेयर से कम भूमि वाले किसान को ही इसके (PM Kisan Maandhan Yojana) पात्र माना जायेगा।
  • पहचान प्रमाण पत्र।
  • बैंक खाते की पासबुक और आधार कार्ड (aadhaar card) बैंक खाते से लिंक होना चाहिए।

किसान मानधन योजना (PM Kisan Maandhan Yojana) में आवेदन कैसे करें

  • किसान मानधन योजना (PM Kisan Maandhan Yojana) आवेदन हेतु आपको आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर “सीएससी वी एल ई” के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको यूजर नाम और पॉसवर्ड भरना होगा और साइन इन के बटन पर क्लिक करें।
  • इसके बाद योजना (PM Kisan Maandhan Yojana) के ऑप्शन में जाकर प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना (PM Kisan Maandhan Yojana) का चयन करना होगा।
  • अब आपके सामने प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना (PM Kisan Maandhan Yojana) ऑनलाइन फॉर्म खुल जाएगा।

Leave a Comment