PM Mudra Loan Yojana: 10 लाख रुपये तक दे रही केंद्र सरकार, इस योजना से मिलेंगे कई फायदे

PM Mudra Loan Yojana: देश के हर हाथ को काम मिले इसके लिए केंद्र सरकार नौकरी देने से ज्यादा स्वरोजगार पर जोर दे रही है। नौकरी में पूरा जीवन खपाने के बजाय लोग अपना कारोबार करें (PM Mudra Loan Yojana) और दूसरे लोगों को भी रोजगार देने वाले बने इसके लिए केंद्र सरकार ने कई योजनाएं चलाई हैं। इनका मकसद रोजगार संबंधी ट्रेनिंग, प्रोत्साहन देना, बाजार उपलब्ध कराना और रोजगार खड़ा करने के लिए आर्थिक मदद करना शामिल है।

ऐसे में सरकार उन छोटे बिजनेस को बूस्ट देने के लिए तरह-तरह की योजनाएं चला रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषणों में यह कई बार कहा है कि सरकार का यह लक्ष्य है कि वह देश को आत्मनिर्भर बनाएं।

तीन हिस्सों में बंटा लोन

मुद्रा लोन (PM Mudra Loan Yojana) को सरकार ने तीन हिस्सों में बांटा है.

इनमें शिशु, किशोर और तरुण तीन अलग अलग प्रकार हैं:

  • शिशु योजना के तहत युवाओं को 50 हजार रुपए तक का लोन दिया जाता है।
  • किशोर योजना के तहत 50 हजार से 5 लाख रुपए तक का लोन मिलता है।
  • तरुण योजना की बात करें तो इसमें सरकार 5 लाख रुपए से लेकर 10 लाख रुपए तक का लोन दे रही है।  

इन लोगों को मिलता है प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना का लाभ

प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना (PM Mudra Loan Yojana) का लाभ नॉन-कॉरपोरेट, छोटे गृह उद्योग, नॉन-एग्रीकल्चर उद्यगों को मिलता है। इस योजना के तरह व्यापारियों को 10 लाख तक का लोन मिलता है। इस लोन की मदद से आप अपना छोटा कारोबार शुरू कर सकते हैं। इस लोन को सरकारी, वाणिज्यिक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक से ले सकते हैं। यह आपको मुर्गी पालन मछली पालन जैसे काम को शुरू करने में भी मदद कर सकता है।

2015 से चल रही है PM Mudra Loan Yojana

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना यानि (पीएमएमवाई) 8 अप्रैल, 2015 को शुरू हुई थी। यह योजना गैर-कार्पोरेट, गैर-कृषि लघु / लघु उद्यमों को 10 लाख रुपए तक का कर्ज उपलब्ध कराने के शुरू की गई है। इन योजनाओं (PM Mudra Loan Yojana) के जरिए लोगों को 50,000 रुपये से लेकर 10 लाख रुपये तक का लोन आसानी और बहुत ही किफायती ब्याज दरों दिए जाने की व्यवस्था की गई।

इस योजना के अन्तर्गत बिना किसी गारन्टी के ऋण दिया जाता है और ऋण के लिए कोई शुल्क भी नहीं लिया जाता है| ऋण पर ब्याज़ दरों का निर्धारण बैंकों के ऊपर निर्भर करता है| फिर भी ब्याज़ दरें 9-12% के बीच हो सकती हैं| इसके साथ ही समय पर ऋण अदा करने की स्थिति में ब्याज़ पर छूट भी दी जाती है| जो भी लाभार्थी इस योजना के अन्तर्गत ऋण लेते हैं उन्हें एक मुद्रा कार्ड दिया जाता है जिससे ज़रुरत पड़ने पर वह धन निकाल सकते हैं|

किन बैंकों से मिलेगी यह योजना

इस योजना (PM Mudra Loan Yojana) के लिए केन्द्र सरकार ने कुछ बैंकों को इस योजना से सम्बद्ध किया है:

  • इलाहाबाद बैंक
  • बैंक ऑफ इण्डिया
  • ICICI बैंक
  • स्टेट बैंक ऑफ इण्डिया
  • बैंक ऑफ बड़ौदा
  • कार्पोरेशन बैंक
  • यूको बैंक
  • फेडरल बैंक
  • केनरा बैंक
  • पंजाब नेशनल बैंक
  • यूनियन बैंक ऑफ इण्डिया
  • सारस्वत बैंक
  • एच डी एफ सी बैंक
  • आई डी बी आई बैंक
  • सैन्ट्रल बैंक ऑफ इण्डिया

इस योजना से किसको मिलेगा लाभ

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PM Mudra Loan Yojana) का लाभ निम्नलिखित लाभार्थियों को प्राप्त होगा:

  • सोल प्रोपराइटर
  • पार्टनरशिप
  • माइक्रो इण्डस्ट्रीज़
  • मरम्मत की दुकानें
  • ट्रकों के मालिक
  • फूड इण्डस्ट्रीज़
  • माइक्रो मैन्युफैक्चरिंग फर्म

कौन कौन से दस्तावेज है जरुरी

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PM Mudra Loan Yojana) के अन्तर्गत आवेदन करने के लिए लाभार्थी को इन प्रपत्रों की आवश्यकता होगी:

  • ऋण सिर्फ 18 वर्ष से ऊपर के व्यक्ति को ही दिया जायेगा|
  • आवेदन करने वाले व्यक्ति को किसी भी अन्य बैंक में डिफाल्टर नहीं होना चाहिए|
  • आधार कार्ड
  • पेन कार्ड
  • आवेदक का स्थाई पता
  • पिछले 3 साल की बैलेंस शीट
  • आयकर रिटर्न
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो

दिया जा चुका है 1,23,425.40 करोड़ रुपये तक का कर्ज PM Mudra Loan Yojana के तहत

आंकड़ों के अनुसार, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत वित्त वर्ष 2021-22 में अब तक 1,23,425.40 करोड़ रुपये तक का कर्ज दिया जा चुका है। शिशु मुद्रा ऋण योजना के तहत दुकान खोलने, रेहड़ी-पटरी पर व्यापार करने जैसे छोटे-मोटे कामों के लिए किसी व्यक्ति को 50 हजार रुपये तक का कर्ज देने की व्यवस्था की गई है।

किन कामों के लिए मिलेगा PM Mudra Loan Yojana के तहत लोन

इस प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना के तहत जिन लोगों को लोन दिया जाएगा उनमें मेडिकल शॉप, बुटीक, सैलून, जिम, ड्राई क्लिनिंग, ब्यूटी पार्लर, वाहनों की रिपेयर शॉप, टेलरिंग शॉप, कुरियर कंपनी शामिल हैं। इसके अलावा ट्रांसपोर्ट बिजनेस जैसे माल लाने ले जाने के लिए गाड़ियों की खरीद, ऑटो रिक्शा, ई-रिक्शा, तिपहिया वाहन, टैक्सी आदि व्यवसाय से जुड़े लोग लोन ले सकते हैं।

फूड सेक्टर से जुड़े लोग जो अचार बनाने, पापड़ बनाने, जैम बनाने, कैटरिंग बिजनेस से जुड़े लोग भी इस लोन (PM Mudra Loan Yojana) के लिए आवेदन कर सकते हैं। दुकानदारों, ट्रेडर्स के साथ खेती और पशुपालन आदि से जुड़े लोग लोन ले सकते हैं।

आवेदन का तरीका

इस लोन के लिए आवेदन करने के लिए कुछ दस्तावेजों की जरूरत होगी और आप आधिकारिक वेबसाइट पर भी जा सकते हैं:

  • प्रमुख रूप से पहचान प्रमाण पत्र, घर के पते का प्रमाण और बिजनेस से जुड़े दस्तावेजों की जरूरत होगी।
  • इसके बाद आवेदनकर्ता को बैंक या लोन कंपनी के पास जाकर आवेदन फॉर्म भरना होगा।
  • बैंक और दूसरी वित्तीय संस्थाएं लोन देने से पहले कुछ फॉर्मेलिटी पूरा करेंगी और दस्तावेजों की जांच करेंगी।
  • सभी आवश्यक कार्रवाई पूरी होने के बाद आवेदनकर्ता को लोन (PM Mudra Loan Yojana) जारी कर दिया जाएगा।

Leave a Comment