PM Surakshit Matritva Yojana: गर्भवती महिलाओं को मिलती है मुफ्त इलाज की सुविधा, जानिए इसके बारे में सबकुछ

प्रधान मंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना | सुरक्षित मातृत्व योजना | PM Surakshit Matritva Yojana | Pradhan Mantri Surakshit Matritva Abhiyan | online apply | ऑनलाइन पंजीकरण |

PM Surakshit Matritva Yojana: सरकार देश में गरीब और कमजोर वर्ग (Economically Weaker Section) के लोगों के लिए कई तरह योजनाएं चलाती है। इन्हीं योजनाओं में से एक है प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान (Pradhanmantri Surakshit Matritva Yojana) है। यह पीएम सुरक्षित मातृत्व योजना प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए शुरू की गई योजना है जिसमें गरीब महिलाओं को लाभ देने का प्रयास सरकार द्वारा किया जाता है। इस PM Surakshit Matritva Yojana के द्वारा मजदूरी करने वाली महिलाओं को मदद पहुंचाई जाती है। गर्भवती (Pregnant Females) होने के कारण कई बार महिलाएं मजदूरी नहीं कर पाती हैं और उनका काम छूट जाता है। ऐसे में सरकार ऐसी महिलाओं को मदद करने के लिए मुफ्त इलाज की सुविधा देती है। इस पीएम सुरक्षित मातृत्व योजना का लाभ लेने के लिए आप अस्पताल में रजिस्ट्रेशन (Registration) करा सकते हैं।

PM Surakshit Matritva Yojana
PM Surakshit Matritva Yojana

देश में गरीब और कमजोर वर्ग के लोगों के लिए सरकार समय-समय पर नई योजनाएं लाती रहती है। इन योजनाओं की मदद से असमर्थ लोग आपनी मूल जरूरतों को पूरा कर सकते हैं। इसी क्रम में सरकार ने एक और योजना लागू की है।  इसका नाम प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना (PM Surakshit Matritva Yojana) है।  इस पीएम सुरक्षित मातृत्व योजना के तहत गर्भवती महिलाओं को लाभ देने का प्रयास किया जा रहा है। इसके द्वारा गरीब और मजदूरी करने वाली महिलाओं को मदद पहुंचाई जाती है।

PM Surakshit Matritva Yojana क्या है

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व स्कीम को केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय (MoHFW) द्वारा चलाया जाता है। इस स्कीम की शुरुआत साल 2016 में गई थी। इस स्कीम के तहत गर्भवती महिला अपने पूरे प्रेगनेंसी के दौरान फ्री में जांच करा सकती है। इसमें (PM Surakshit Matritva Yojana) हर महिला अपनी डिलीवरी तक हर महीने की 9 तारीख तक अपने घर के पास के नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र (Health Care Center) फ्री में अपनी जांच और इलाज करा सकती है। इसके अलावा डिलीवरी में परेशानी होने पर भी फ्री में इलाज की व्यवस्था इस योजना द्वारा की गई है।

गर्भवती महिलाओं को एक स्वस्थ बच्चे को जन्म देने के लिए चिकित्सक के सलाह की जरूरत होती है, लेकिन ये हर महिला के लिए आर्थिक तंगी होने के कारण संभव नहीं हो पाता है। इसलिए सरकार ऐसी महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान चिकित्सक सुविधाएं दे रही है।  इस PM Surakshit Matritva Yojana के तहत कोई भी महिला गर्भावस्था के दौरान  मुफ्त इलाज करवा सकती हैं। अगर आप भी इस पीएम सुरक्षित मातृत्व योजना का लाभ उठाना चाहते हैं, तो आपको इसके लिए ज्यादा कुछ करने की जरूरत नहीं है।

5 हजार तक का इलाज है मुफ्त

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान (PM Surakshit Matritva Yojana) दिवस पर संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देने के लिए महिलाओं का 5 हजार तक का मुफ्त इलाज किया जाएगा, जिससे महिलाएं ज्यादा से ज्यादा अस्पताल में डिलीवरी कराएं और जिससे गर्भवती महिला और शिशु की मृत्युदर को कम किया सके।

इसी उद्देश्य से मातृत्व दिवस मनाया जाता है। इस दिन गर्भवती महिला के ब्लड प्रेशर, ब्लड टेस्ट, यूरीन टेस्ट, हीमोग्लोबिन जांच और अल्ट्रासाउंड का टेस्ट फ्री में किया जाता है। पीएम सुरक्षित मातृत्व योजना के अलावा जो महिलाएं ज्यादा गंभीर होती हैं उन्हें उच्च चिकित्सा केन्द्रों के लिए रेफर कर दिया जाता है।

PMSMA से होने वाले लाभ

आपको बता दें कि इस PM Surakshit Matritva Yojana योजना को शुरू करने के पीछे यह मकसद था कि अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएं केवल शहर ही नहीं गांव में भी दी जा सके। इस पीएम सुरक्षित मातृत्व योजना के तहत गरीब वर्ग की महिलाओं को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं (Health Facility) देने की कोशिश की गई है। इसे सही तरीके से अस्पताल में डिलीवरी और जच्चा और बच्चे की सुरक्षा का ध्यान देने की कोशिश की गई है।

क्यों शुरू की गई PMSMA

सरकार की इस सुविधा के लाभ के लिए स्वास्थ्य केंद्र निर्धारित किए गए हैं. यह केंद्र केवल शहर ही नहीं बल्कि गावों में भी बनाए गए हैं। इस PM Surakshit Matritva Yojana का लाभ सभी गर्भवती महिलाओं को दिया जाता है, खासकर जो महिलाएं आर्थिक रूप से कमजोर हैं।

ऐसा इसलिए ताकि जो जिन महिलाओं को गर्भधारण के बाद सही खान-पान नहीं हो पाता, जिस वजह से उनके बच्चे कुपोषण का शिकार हो जाते हैं। इसी सब पर रोक लगाने के लिए सरकार ने  प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान को शुरू किया है।

9 जनवरी को खोले गए बैंक अकाउंट

आपको बता दें कि 9 जनवरी को भी गर्भवती दिवस मनाया गया। इस बार गर्भवती महिलाओं के जीरे बैलेंस के खाते खोले गए। इस दिन PM Surakshit Matritva Yojana के तहत उन महिलाओं के भी बैंक खाते खोले गए, जिनका पहले से कोई अकाउंट नहीं था।

पीएम सुरक्षित मातृत्व योजना से इन्हें जननी सुरक्षा योजना और प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत मिलने वाली आर्थिक सहायता के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा।

PM Surakshit Matritva Yojana का लाभ लेने करने लिए करना होगा यह काम

बतो दें कि अगर आपको गर्भ धारण किए 3 से 6 महीने हो चुके हैं तो आप किसी भी नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में जाकर पीएम सुरक्षित मातृत्व योजना के लिए रजिस्ट्रेशन कराना होता है।

इसके बाद आपका कार्ड बन जाता है और इस कार्ड को लेकर आप महीने की 9 तारीख को किसी भी सरकारी अस्पताल या प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में जाकर जांच और डिलीवरी करा सकती हैं।

Sukanya Samriddhi Yojana: SSY खाता कैसे खोलें? न्यूनतम राशि, डॉक्यूमेंट्स और अन्य डिटेल्स जानें

Leave a Comment