Post Office Investment Scheme: मासिक आय की गारंटी पाने के लिए इस योजना में निवेश करें

Post Office Monthly Income Scheme | post office scheme | Post Office Investment Scheme | पोस्ट ऑफिस स्कीम | पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम |

Post Office Investment Scheme: डाकघर द्वारा दी जाने वाली योजनाएं आज के अत्यधिक अस्थिर वित्तीय परिदृश्य में सबसे भरोसेमंद, सुरक्षित और सुरक्षित निवेश विकल्पों में से एक हैं। जो लोग अपनी बचत पर शानदार रिटर्न पाने के लिए जोखिम मुक्त विकल्पों की तलाश कर रहे हैं, उनके लिए यह (Post Office Investment Scheme) योजना एक आदर्श निवेश विकल्प है। छोटी रकम का निवेश करके उच्च रिटर्न पाने की चाहत रखने वाले व्यक्तियों को अपना ध्यान डाकघर द्वारा दी जाने वाली योजना की ओर लगाना चाहिए। पोस्ट ऑफिस इन्वेस्टमेंट स्कीम अल्प निवेश के साथ शानदार रिटर्न की गारंटी देने वाली योजना को डाकघर आवर्ती जमा योजना कहा जाता है। सरकार द्वारा गारंटीकृत डाकघर आरडी योजना व्यक्तियों को बेहतर ब्याज दर पर अपने खाते में छोटी राशि जमा करने देती है।

वास्तव में, आप 100 रुपये से कम निवेश करके एक अच्छी राशि कमा सकते हैं। यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि इस योजना में निवेश की गई राशि की कोई अधिकतम सीमा नहीं है।

Post Office Investment Scheme
Post Office Investment Scheme

डाकघर योजना (पोस्ट ऑफिस इन्वेस्टमेंट स्कीम) पारंपरिक निवेशकों और वरिष्ठ नागरिकों के लिए सबसे उपयुक्त है, जिन्हें अपने निवेश पर एक निश्चित मासिक आय की आवश्यकता होती है। Post Office Investment Scheme निवेशक न्यूनतम निवेश के साथ डाकघर मासिक आय योजना में खाता खोल सकते हैं। उदाहरण के लिए, एक निवेशक न्यूनतम 1,000 रुपये का निवेश करके एमआईएस पॉलिसी में खाता खोल सकता है।

Post Office Investment Scheme में ब्याज दर की गारंटी

इस योजना (पोस्ट ऑफिस इन्वेस्टमेंट स्कीम) में निवेश करने वाले व्यक्ति को न्यूनतम 5 वर्ष की अवधि के लिए डाकघर में आरडी खाता खोलना होगा। ब्याज की गणना वार्षिक दर के आधार पर हर तिमाही में जमा राशि पर की जाती है। प्रत्येक तिमाही के अंत में राशि चक्रवृद्धि ब्याज के साथ खाते में जोड़ दी जाती है। वर्तमान में डाकघर द्वारा RD योजना पर 5.80% का ब्याज दिया जा रहा है।

1000 से शुरू कर सकते हैं निवेश

  • आरडी योजना में 10 साल की अवधि के लिए हर महीने 10,000 रुपये का निवेश आपको मैच्योरिटी के समय कुल 16.28 लाख रुपये देगा।
  • योजना में निवेश करने वाले व्यक्तियों को इस बात की जानकारी होनी चाहिए कि समय पर किश्त जमा नहीं करने पर जुर्माना भरना पड़ेगा।
  • Post Office Investment Scheme किस्त के भुगतान में देरी के मामले में प्रति माह 1% का जुर्माना देना होगा।
  • इसके अलावा, लगातार चार किस्तें जमा नहीं करने पर खाता बंद करने के लिए आमंत्रित किया जाएगा।
  • फिर भी, एक खाताधारक अगले दो महीनों के लिए आरडी खाते को फिर से सक्रिय कर सकता है।

2.5 साल बाद निकासी की सुविधा

किसान विकास पत्र एक (Post Office Investment Scheme) सर्टिफिकेट के रूप में मिलता है। इसमें 1,000, 2,000, 5,000 , 10,000 और 50,000 रुपये तक के सर्टिफिकेट दिए जाते हैं, जिसके जारी होने के वक्त ब्याज दर तय की जाती है। हालांकि, उसमें सरकारी नियमों के मुताबिक बदलाव हो सकते हैं। वैसे तो केवीपी में मैच्योरिटी अवधि 124 महीने है, लेकिन जरूरत पड़ने पर आप 2.5 साल बाद भी निकासी कर सकते हैं।

Post Office Investment Scheme की विशेषताएं

नीचे हम आपको पोस्ट ऑफिस इन्वेस्टमेंट स्कीम की कुछ विशेषता बताएंगे, तो आप जरूर पढ़ें:

  • पोस्ट ऑफिस सेविंग स्कीम (Post Office Saving Scheme) में आवेदन करना बहुत ही आसान है।
  • यह भारत सरकार द्वारा शुरू की गई एक योजना है जो पूरी तरह से सुरक्षित है।
  • डाकघर बचत योजनाओं में ब्याज दरें चार प्रतिशत से नौ प्रतिशत तक होती हैं।
  • इस योजना के तहत सभी वर्ग के लोगों के लिए अलग-अलग योजनाएं उपलब्ध कराई गई हैं।
  • सबसे बड़ी विशेषता यह है कि डाकघर (Post Office Investment Scheme) में निवेश करने से लोग बचत करने के लिए प्रेरित होंगे।
  • पैसे बचाने में निवेशकों की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा।
  • इस प्लान को आप लंबे समय तक रख सकते हैं।
  • डाकघर (Post Office) में निवेश करने पर आयकर अधिनियम की धारा के तहत 80सी कर छूट का भी प्रावधान किया गया है।

इन डॉक्यूमेंट्स की पड़ती है जरूरत

पोस्ट ऑफिस इन्वेस्टमेंट स्कीम (Post Office Investment Scheme) या डाकघर की अन्य स्कीम या पॉलिसी के लाभ उठाने के लिए आपके पास नीचे बताये गए सभी दस्तावेज होने चाहिए। तभी आप उनका लाभ ले पाएंगे:

  • केवीपी नियम के मुताबिक-
  • इसे एक नाबालिग की ओर से कोई वयस्क और कमजोर दिमाग वाले व्यक्ति की ओर से एक अभिभावक खरीद सकता है।
  • केवीपी खाता खोलने के लिए।
  • आधार कार्ड।
  • पैन कार्ड।
  • वोटर आईडी कार्ड।
  • ड्राइविंग लाइसेंस।
  • पासपोर्ट जैसे पहचान पत्र जरूरी है।

Post Office Investment Scheme लॉकइन अवधि के बाद निकासी पर रिटर्न

  • 2.5 साल बाद और 3 साल से पहले  – 1,154
  • 5 साल बाद और 5.5 साल से पहले  – 1,332
  • 7.5 साल बाद और 8 साल से पहले  – 1,537
  • 10 साल बाद और मैच्योरिटी से पहले – 1,774
  • मैच्योरिटी (12 महीने) पर     – 2,000
  • (कैलकुलेशन 1,000 रुपये के (Post Office Investment Scheme) निवेश पर)

जरूरत न हो तो मैच्योरिटी पर ही करें निकासी

निवेश सलाहकार स्वीटी मनोज जैन का कहना है कि यह भारत सरकार की योजना है। इसलिए इसमें निवेश पर कोई जोखिम नहीं रहता है। साथ ही पोस्ट ऑफिस इन्वेस्टमेंट स्कीम के तहत मैच्योरिटी पर पैसा दोगुना हो जाता है। ध्यान देने वाली बात है कि 124 महीने से पहले अगर आप चाहें तो ढाई साल बाद भी निकासी कर सकते हैं। ऐसी स्थिति में आपको कम ब्याज मिलता है। इसलिए जरूरत न हो तो पोस्ट ऑफिस इन्वेस्टमेंट स्कीम के तहत मैच्योरिटी पर ही निकासी करें।

LIC Dhan Rekha Scheme: कम रिस्क में मिलेगा मनी बैक का लाभ, करें निवेश

Leave a Comment