Saat Nischay Yojana: 40 फीसदी राशि भुगतान करने का निर्देश, जानिए कैसे

Saat Nischay Yojana: यह सात निश्चेय योजना बिहार के सीएम द्वारा शुरू की गयी। चुनावी तैयारी की व्यस्तता में विकास की कई योजनाएं प्रभावित हुईं हैं। सरकार की सर्वाधिक महत्वकांक्षी योजना ‘सात निश्चय योजना’भी इससे अछूती न रही। नतीजतन, कई जिलों की विकास रैकिंग बदल गई है।

राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता वाली Saat Nischay Yojana की प्रगति और अनुश्रवण कर रही विकास मिशन द्वारा फरवरी 2021की समीक्षा के बाद राज्य के सभी 38 जिलों की रैंकिंग जारी की गई है।

इस योजना के तहत राज्य के गरीब परिवारों और जरूरतमंद लोगों को बिहार सरकार द्वारा लाभ दिया जाएगा। इस योजना के तहत बिहार राज्य में शिक्षा को बढ़ावा देने के साथ-साथ कौशल प्रशिक्षण वाह कंप्यूटर प्रशिक्षण के लिए संस्थान खोले जाएंगे।

बिहार सात निश्चय योजना अवलोकन

बिहार सात निश्चेय योजना इस प्रकार है:

  • योजना का नाम – सात निश्चेय योजना
  • राज्य – बिहार
  • लॉन्च – बिहार के मुख्यमंत्री द्वारा शुरू की गई थी।
  • लाभ – सात निश्चय योजना के तहत राज्य के सभी वर्गों को लाभ दिया जाएगा।
  • मुख्य लाभ – बिहार राज्य के स्थायी निवासी
  • आधिकारिक वेबसाइट – https://www.7nishchay-yuvaupmission.bihar.gov.in/

13 % युवा उच्च शिक्षा हासिल कर पाते हैं, 35% है Saat Nischay Yojana का लक्ष्य

हम आपको बता दें कि इस सात योजना (Saat Nischay Yojana) का लक्ष्य राज्य के युवाओं को अधिक से अधिक स्तर पर लाभ देना है।

  • मुख्यमंत्री ने कहा कि देश में ऐसा पहले कभी नहीं हुआ कि किसी राज्य ने बैंक कर्ज पर मूलधन के साथ-साथ ब्याज पर भी गारंटी दी हो।
  • आज राज्य में मात्र 13 प्रतिशत युवा उच्च शिक्षा हासिल करते हैं।
  • हम चाहते हैं कि यह संख्या 30-35 प्रतिशत हो जाए।
  • हमारी योजना युवाओं के लिए यह बेहतरीन अवसर है।
  • इससे उनकी आर्थिक समस्याओं का समाधान हो जाएगा।
  • बैंकों से दौड़ाए जाने की सूचना अब गुजरे जमाने की बात हो गई है।

सात निश्चय पार्ट-2 को जमीन पर उतारने की कवायद शुरू

अब यह भी मन जा रहा है कि सरकार Saat Nischay Yojana पार्ट 2 की तैयारी कर रही है, जो की बिहार चुनाव में कुछ स्तर तक सफल साबित रह सकेगा।

मुख्यमंत्री और जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने बिहार विधानसभा चुनाव 2020 की तिथि जारी होने के साथ ही सात निश्चय पार्ट-2 की घोषणा की थी।

उन्होंने अपनी हर सभा में जनता से वादा किया था कि फिर मौका मिला तो सात निश्चय पार्ट-2 लागू करेंगे। नवगठित बिहार विधानसभा का पहला सत्र समाप्त होने के अगले ही दिन शनिवार को नीतीश कुमार के इस निश्चय को जमीन पर उतारने को लेकर उनकी मौजूदगी में जदयू कोर कमेटी की बैठक हुई।

इसके साथ ही राज्य में कौशल प्रशिक्षण और कंप्यूटर प्रशिक्षण के लिए एक संस्थान खोलने की भी सरकार की ओर से तैयारी की जा रही है। Saat Nischay Yojana के साथ ही सरकार की ओर से नर्सिंग कॉलेज के अलावा पांच मेडिकल कॉलेज स्थापित करने की योजना भी तैयार की जा रही है।

उम्मीद के विपरीत Saat Nischay Yojana कई सीटों पर हार की होगी समीक्षा

इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बताना कहते हैं कि प्रदेश जेडीयू अध्यक्ष बशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि शनिवार को राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार की मौजूदगी में हुई पार्टी की कोर कमेटी की बैठक में संगठन की मजबूती के लिए और काम करने का सुझाव आया।

आपको साथ ही साथ बता दें कि विधानसभा चुनाव में जिन सीटों पर हमें हार मिली है Saat Nischay Yojana उसकी भी समीक्षा होगी। हालांकि प्रदेश अध्यक्ष के स्तर पर इसकी शुरुआत हो गयी है। कई पराजित प्रत्याशी राष्ट्रीय अध्यक्ष और प्रदेश अध्यक्ष से मिल चुके हैं।

हम यह भी बता दें कि बावजूद इसके Saat Nischay Yojana समेकित रूप में भी जल्द ही पार्टी एक बड़ी बैठक करेगी। बैठक में प्रदेश अध्यक्ष बशिष्ठ नारायण सिंह, ऊर्जा मंत्री बिजेन्द्र प्रसाद यादव, जल संसाधन मंत्री विजय कुमार चौधरी, सांसद आरसीपी सिंह, भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी और विधान पार्षद संजय झा शामिल हुए।

Leave a Comment