SBI Annuity Deposit Scheme: विशेषताएं, ब्याज दर और अन्य विवरण जानने के लिए

एसबीआई एन्युटी डिपोसिट स्कीम | sbi annuity deposit scheme 2022 | sbi annuity deposit scheme interest rate

SBI Annuity Deposit Scheme: अगर आप अपनी आय बढ़ाने के लिए निवेश करना चाहते हैं तो हम आपको एक ऐसा तरीका बताने जा रहे हैं जो निश्चित कमाई के लिए सबसे बेहतर विकल्प है। एसबीआई एन्युटी स्कीम (SBI Annuity Scheme) में निवेश के जरिए आप हर महीने कमाई कर सकते हैं। शेयर बाजार में निवेश करने के लिए रिस्क लेने की क्षमता होन भी जरूरी है। इस समय दुनिया भर के शेयर बाजार में बिकवाली का माहौल है। ऐसे में निवेश निवेश के जरिए लोग अपना भविष्य और सुरक्षित करने की प्लानिंग करते हैं लेकिन कभी-कभी गलत जगह निवेश करने से उनकी दिक्कत बढ़ भी जाती है। ऐसे में ये बहुत जरूरी हो जाता है कि आप सही जगह निवेश करें ताकि आपको कोई दिक्कत न हो। देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ग्राहकों के लिए एन्युटी स्कीम लेकर आया है।

SBI Annuity Deposit Scheme
SBI Annuity Deposit Scheme

शानदार है एसबीआई एन्युटी स्कीम

आपको बता दें कि एसबीआई की इस SBI Annuity Deposit Scheme में 36, 60, 84 या 120 महीने की अवधि के लिए निवेश किया जा सकता है। इसमें निवेश पर ब्याज दर वही होगी, जो चुनी हुई अवधि के टर्म डिपॉजिट के लिए होती है। मान लीजिए कि अगर आपने पांच साल के लिए फंड डिपॉजिट किया, तो आपको पांच साल की फिक्स्ड डिपॉजिट पर लागू होने वाली ब्याज दर के हिसाब से ही आपको ब्याज मिलेगा। इस स्कीम का फायदा भारत का कोई भी नागरिक ले सकता है।

SBI Annuity Deposit Scheme ब्याज दर क्या होगी

एसबीआई की वार्षिकी वार्षिकी जमा योजना (SBI Annuity Deposit Scheme) पर ब्याज दर इसकी FD दरों के समान ही है। वर्तमान में, एसबीआई में एफडी पर ब्याज दर (Fixed डिपोसिट Interest Rate) 2.90 प्रतिशत प्रति वर्ष से लेकर विभिन्न परिपक्वता अवधि के लिए 5.40 प्रतिशत प्रति वर्ष है। 60 वर्ष या उससे अधिक आयु के वरिष्ठ नागरिकों को आधा प्रतिशत अधिक ब्याज मिलता है। एसबीआई स्टाफ और बैंक पेंशनभोगियों को एक प्रतिशत अधिक ब्याज मिलता है। बैंक की वेबसाइट के अनुसार, वार्षिकी जमा योजना (एन्युटी डिपोसिट स्कीम) में ब्याज का भुगतान अगले महीने की उसी तारीख से शुरू हो जाएगा जिस दिन खाता खोला जाएगा। डाक जीवन बीमा पॉलिसी का डिजिटल वर्जन हुआ लॉन्च, अब फिजिकल कॉपी की जरूरत नहीं होगी।

SBI Annuity Deposit Scheme के फीचर्स

  • एसबीआई की सभी शाखाओं से Annuity Scheme में निवेश किया जा सकता है।
  • Annuity Scheme में कम से कम 25 हजार रुपये कराने होंगे।
  • एसबीआई के कर्मचारी और पूर्व कर्मचारियों को 1 फीसदी ज्यादा ब्याज मिलेगा।
  • वरिष्ठ नागरिकों को 0.5 फीसदी अधिक ब्याज दिया जाएगा।
  • Term Deposit की ब्याज दरें इस योजना पर भी लागू होंगी।
  • एन्युटी का भुगतान डिपॉजिट होने के अगले महीने से निर्धारित तारीख को किया जाएगा।
  • एन्युटी का भुगतान TDS काटकर बचत खाते या चालू खाते में कर दिया जाएगा।
  • एकमुश्त रकम पर अच्छा रिटर्न पाने के लिए बेहतर प्लान है.
  • विशेष परिस्थितियों में एन्युटी के बैलेंस अमाउंट के 75% तक की राशि का ओवरड्राफ्ट / कर्ज मिल सकता है।
  • बचत खाते से Annuity Scheme में बेहतर रिटर्न मिलता है।

हर महीने चाहते हैं 10 हजार तो कितना धन करें निवेश

अगर कोई निवेशक (SBI Annuity Deposit Scheme) हर महीने 10 हजार रुपये की मासिक आय चाहता है तो उसके लिए निवेशक को 5 लाख 7 हजार 965 रुपये और 93 पैसे जमा कराने होंगे। जमा कराई गई धनराशि पर आपको 7 फीसदी की ब्याज दर से रिटर्न मिलेगा जिससे निवेशक को हर महीने तकरीबन 10 हजार रुपये की कमाई होगी। तो अगर आपके पास एकमुश्त रकम है तो बिल्कुल देर न करें।

निवेश करना है तो जान लें नियम

एन्युटी स्कीम (SBI Annuity Deposit Scheme) में न्यूनतम 1000 रुपये हर महीने जमा करने का नियम है,लेकिन अधिकतम निवेश की कोई सीमा तय नहीं की गई है। एन्युटी पेमेंट में ग्राहक की तरफ से जमा रकम पर ब्याज लगकर एक तय समय के बाद इनकम शुरू हो जाती है। भविष्य के लिए तो ये स्कीम शानदार होती हैं लेकिन एक साथ इतनी रकम जुटाना मिडिल क्लास के लिए संभव नहीं हो पाता है।

SBI Annuity Deposit Scheme की जमा सीमा

इस योजना (SBI Annuity Deposit Scheme) में कम से कम 25 हजार एकमुश्त जमा करना होगा। जमा करने की कोई अधिकतम सीमा नहीं है। जमा अवधि 3, 5, 7 या 10 वर्ष है। हालांकि टीडीएस काटने के बाद ही खाते में राशि जमा की जाएगी।

वार्षिकी योजना का लाभ

इस योजना (SBI Annuity Deposit Scheme) का लाभ कोई भी भारतीय नागरिक उठा सकता है। इसमें एक नाबालिग भी शामिल हो सकता है। वार्षिकी योजना के तहत एकल या संयुक्त खाता खोला जा सकता है। एनआरई या एनआरओ श्रेणी के अंतर्गत आने वाले लोग इसमें भाग नहीं ले सकते।

आवर्ती जमा खाते में ग्राहक किश्तों में भुगतान करता है और परिपक्वता तिथि पर परिपक्वता राशि प्राप्त करता है जबकि वार्षिकी जमा एक बार जमा स्वीकार करता है और उस राशि को कम करने के सिद्धांत पर ब्याज ग्राहक को उसके द्वारा चुनी गई अवधि पर किश्तों में चुकाया जाता है।

Annuity Scheme Vs Recurring Deposit

आम तौर पर मिडिल क्लास लोगों के पास एकमुश्त रकम का अभाव होता है। ऐसे में ज्यादातर लोग रिक्योरिंग डिपोजिट (Recurring deposit) में निवेश के जरिए अपना भविष्य सुरक्षित करते हैं। RD में छोटी-छोटी बचत के जरिए रकम को इकट्ठा किया जाता है और फिर उस पर ब्याज लगाकर निवेशक को वापस कर दिया जाता है। इस वजह से आम लोगों में  Annuity Deposit के मुकाबले Recurring Deposit काफी पसंद किया जाता है।

Leave a Comment