KYC अपडेट के नाम पर हो सकता है अकाउंट खाली, जानिए कैसे हो रही है ठगी। किसी से भी शेयर न करें UPI पिन।

कोरोना काल में ऑनलाइन ठगी के नए-नए तरीके सामने आ रहे हैं। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने सोमवार को एक अलर्ट जारी कर बैंक कस्टमर्स को सतर्क रहने को कहा है।

केंद्रीय बैंक का कहना है कि उसे इस तरह की शिकायतें मिल रही हैं कि बैंक ग्राहकों को केवाईसी (Know Your Customer) अपडेट करने के नाम पर चूना लगाया जा रहा है।

रिजर्व बैंक का कहना है कि ग्राहकों को कॉल, एसएमएस और ईमेल भेजकर उनसे व्यक्तिगत जानकारी साझा करने को कहा जा रहा है। इसमें लॉगिन डिटेल, कार्ड की जानकारी, पिन और ओटीपी (OTP) शामिल हैं।

देखा जाता है कि फ्रॉड करने वाले लोग KYC या आपके अकाउंट के अपडेशन के नाम पर आपका UPI और UPI पिन मांगे हैं। ऐसे में ऐसे फोन कॉल्स या मैसेज से सावधान रहें।

अगर कोई आपके बैंक अकाउंट में KYC के नाम पर आपके मोबाइल फोन या कंप्यूटर का एक्सेस लेना चाहता है तो संभल जाएं। ये भी ऑनलाइन फ्रॉड कर नया तरीका है।

एक बार उनके पास आपका पिन हो जाने के बाद, वे तुरंत खाते से पैसे निकाल सकते हैं। इसीलिए किसी भी लेनदेन को शुरू करने से पहले हमेशा ये सुनिश्चित करें कि UPI सही खाता धारक से जुड़ा हुआ है।